विद्यालय के शिक्षकों द्वारा गृहवार सर्वेक्षण जारी

रिपोर्ट;अमरेश कुमार,बैशाली [ बिहार ]
गोरौल;- विद्यालय से बाहर के 6 से 18 आयु वर्ग के सभी बच्चों की पहचान करके उन्हें उम्र सापेक्ष कक्षा में नामांकन कराने के उद्देश्य से गोरौल प्रखंड के सभी सरकारी प्रारंभिक विद्यालयों के द्वारा गृहवार सर्वेक्षण किया जा रहा है । मालूम हो कि नि:शुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2010 के अनुसार 6 से 14 वर्ष आयु वर्ग के सभी बच्चों को शिक्षा का अधिकार प्राप्त है। इसके बाद भी कई बच्चे अपने अधिकार से वंचित रह जाते हैं ऐसे ही बच्चों की पहचान के लिए गृहवार सर्वेक्षण विद्यालयों के द्वारा विभागीय आदेश के आलोक में किया जा रहा है ।

प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी दिनेश प्रसाद सिंह ने बताया कि सर्वेक्षण की सफलता के लिए प्रखंड स्तर पर बीआरपी धर्मेंद्र कुमार के नेतृत्व में लेखा सहायक मिंटू पासवान एवं संसाधन शिक्षक श्री दिवाकर कुमार को मिलाकर तीन सदस्यीय कोर कमेटी का गठन किया गया है। वही अनुश्रवण के लिए बीआरपी कौशर परवेज खान एवं धर्मेंद्र कुमार को अलग-अलग संकुलों का दायित्व सौंपा गया है ।संकुल स्तर पर संकुल विद्यालय के प्रधानाध्यापक के नेतृत्व में विद्यालय शिक्षा समिति और अन्य विद्यालय प्रधान के साथ कोर कमेटी बनाई गई है ।

उसी प्रकार विद्यालय स्तर पर प्रधानाध्यापक के साथ एक नोडल शिक्षक का हेल्पडेस्क बनाया गया है । साथ ही विद्यालय शिक्षा समिति और समुदाय के 2 लोगों के साथ विद्यालय प्रधान के नेतृत्व में विद्यालय स्तर पर भी कोर कमेटी का गठन किया गया है ।सर्वेक्षण के दौरान और नामांकित ,छीजित बच्चों की पहचान कर उनका नामांकन उनके उम्र के अनुसार वर्ग में करने का प्रावधान है । उम्र सापेक्ष वर्ग में नामांकन के बाद उन बच्चों के लिए विशेष प्रशिक्षण की व्यवस्था भी सरकार के स्तर से किए जाने का प्रावधान है ।

ताकि वह बच्चा उम्र सापेक्ष वर्ग की दक्षता प्राप्त कर सके । 14 वर्ष से 18 वर्ष तक के अनामांकित एवं ड्रॉपआउट बच्चों के लिए ओपन स्कूल से शिक्षा के साथ वित्तीय सहायता का भी विकल्प उपलब्ध है । सर्वेक्षण के दौरान अनामांकित या ड्रॉपआउट बच्चे का बेसलाइन टेस्ट के माध्यम से उनके पूर्व ज्ञान की जांच शिक्षकों के द्वारा किए जाने की व्यवस्था है । बेसलाइन टेस्ट के बाद 1 दिसंबर से 7 दिसंबर के दौरान उन सभी बच्चों का नामांकन उम्र सापेक्ष वर्ग में कर लिए जाने का विभागीय आदेश है।

इसके आलोक में प्राथमिक विद्यालय पिरोई राजा राय के निकट ,नवसृजित प्राथमिक विद्यालय डीह कोरीगांव ,पैगंबरपुर गोरीगामा ,लोदीपुर दलित टोला, लीलकु सिंह बथनिया टोला ,रामपुर बख्तौर ,उत्क्रमित मध्य विद्यालय भानपुर बरेवा ,रुक मंजरी ,लोदीपुर सहित अन्य विद्यालय के शिक्षकों के द्वारा गृहवार सर्वेक्षण कर विद्यालय से बाहर के 6 से 18 आयु वर्ग के बच्चों की पहचान की जा रही है ।

Comments are closed.