विश्व शांति स्तूप के वार्षिकोत्सव में राज्यपाल होंगे शामिल

फोटो – राजगीर का विश्व शांति स्तूप।

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास,राजगीर [ बिहार ]
राजगीर;-पर्यटन स्थल राजगीर के रत्नागिरी पहाड़ी की चोटी पर निर्मित विश्व शांति स्तूप की 52 वीं वर्षगांठ की तैयारी जोर शोर से की जा रही है।25 अक्टूबर को विश्व शांति स्तूप पर आयोजित इस वर्षगांठ समारोह का उद्घाटन राज्यपाल फागु चौहान करेंगे।श्री चौहान पहली बार विश्व शांति स्तूप के वार्षिक समारोह में शामिल होंगे।समारोह में महाबोधि महाविहार, बोधगया के मुख्य भिक्षु चलिन्दा और पर्यटन विभाग के अपर मुख्य सचिव संतोष कुमार मल्ल शामिल होंगे।इस इन्टरनेशनल समारोह में पहले जापान सहित कई देशों के बौद्ध भिक्षु और बौद्ध धर्मावलंबी बड़ी संख्या में शामिल होते रहे हैं।लेकिन वैश्विक महामारी कोरोना के कारण इस बार उनका आगमन संभव नहीं हो पा रहा है।

जापान के निप्पोन्जन म्योहोगी के मुख्य भिक्षु द्वारा मुख्य पूजा किया जाता रहा है।पिछले साल की तरह इस बार भी उनका आगमन नहीं हो रहा है।उनकी अनुपस्थिति में राजगीर जापानी बौद्ध मंदिर के मुख्य भिक्षु टी ओकोनेगी द्वारा बौद्ध विधि विधान से पूजा अर्चना किया जायेगा।विश्व शांति स्तूप के इस वार्षिक समारोह का आयोजन कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार किया जा रहा है।

समारोह में शामिल होने वाले लोगों के लिए मास्क अनिवार्य किया गया है।इसके अलावे सोशल डिस्टेंसिंग के तहत सीटिंग अरेंजमेंट की जा रही है।समारोह स्थल पर सेनीटाइजर एवं अन्य सामग्रियों की व्यवस्था की जाएगी।समारोह की तैयारी लगभग से की जा रही है।वर्षगांठ के मौके पर विश्व शांति स्तूप की रंगाई पुताई सफेद रंग से की जा रही है।डॉ जनार्दन उपाध्याय ने बताया कि समरोह की तैयारी अंतिम चरण में है।

— रोपवे की हो रही है रंग रोगन

विश्व शांति स्तूप के वार्षिक उत्सव के मौके पर बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम भी तैयारी में जुट गया है।इस अवसर पर राज्य के पहले आकाशीय रज्जू मार्ग की रंग रोगन जोर शोर से की जा रही है।रोपवे के कुर्सियों को अलग – अलग रंगों से पेंट कर आकर्षक बनाया जा रहा है।इसके अलावा रोपवे और शांति स्तूप जाने वाले मार्ग की गैबियानो की भी रंगाई पुताई आकर्षक ढंग से की जा रही है।यह जानकारी रोपवे मैनेजर गौरव कुमार ने दी।

Comments are closed.