वृद्ध कैदी की इलाज के दौरान पीएमसीएच में हुई मौत

 

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:- सदर अस्पताल के कैदी वार्ड में कई दिनों से बीमार चल रहे 85 वर्षीय दशरथ यादव उर्फ दासो यादव की तबियत गुरुवार को अचानक बिगड़ने के बाद उसे इलाज के पटना पीएमसीएच ले जाया गया था। शुक्रवार को इलाज के दौरान कैदी की मौत हो गई। जिसे जेल प्रशासन द्वारा पोस्टमार्टम के बाद कैदी के शव को शनिवार की देर रात्रि जमुई लाया गया। सदर अस्पताल के चिकित्सक अरिवंद कुमार की माने तो कैदी को खून की कमी थी उम्र की हिसाब से उनकी स्थिति नाजुक बनी ही थी जिसको लेकर उसे पटना रेफ़र किया गया था।
———
-रेफर के 7 घंटे के बाद वृद्ध कैदी को ले जाया गया था पीएमसीएच

चिकित्सक अरविंद कुमार द्वारा गुरुवार को प्राथमिक उपचार के बाद कैदी को करीब 3 बजे पीएमसीएच पटना रेफ़र कर दिया गया था लेकिन उसे जेल प्रशासन द्वारा करीब 7 घंटे बाद रात साढ़े दस बजे ले जाया गया था। ऑक्सीजन पर वृद्ध कैदी जिंदगी और मौत के बीच घंटों सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में सांसे गिनता रहा। जिसमें जेल प्रशासन की लापरवाही सामने आई थी। ऐसी लापरवाही का खेल वृद्ध कैदी के साथ क्या इसलिए खेला गया कि उसके आगे-पीछे कोई देखने वाला नहीं था। जो भी लोग उसके परिवार में हैं वे भी हत्या मामले में जेल में बंद हैं। वृद्ध कैदी का न कोई कहने वाला और न कोई सुनने वाला था इसलिए जेल प्रशासन भी आराम फरमाते हुए रेफ़र के 7 घंटे बाद पटना ले गई थी।
——-
-कहते हैं जेल अधीक्षक

जेल अधीक्षक सिप्रियन टोप्पो ने बताया कि चिकित्सक द्वारा रेफर के बाद पटना ले जाया गया था।इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई है।शव पहुंचने के बाद परिजन को सौंपा जाएगा।

Comments are closed.