वैश्विक महामारी पर भारी पड़ा पिकनिक, रिकॉर्ड भीड़ से अस्त-व्यस्त हुआ राजगीर

रिपोर्ट : ब्यूरो राम विलास नालंदा बिहार।
नालंदा;-वैश्विक महामारी कोरोना, मंहगाई और बेरोजगारी पर नववर्ष 2021 के पिकनिक भारी पड़ गया. 31 दिसम्बर और एक जनवरी को अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन केन्द्र राजगीर के सभी होटल हाउस फुल रहा। विश्व प्रसिद्ध गर्मजल के कुंडों-झरनों में स्नान करने वाले नर-नारियों की भीड़ पूरे दिन उमड़ते रही। भीड़ के अनुपात में पुलिस की चाक-चौबंद व्यवस्था छोटी पड़ गई। भीड़ को नियंत्रित करने में पुलिस दिन भर पसीना बहाती रही बावजूद यातायात व्यवस्था ध्वस्त रही।

अनुमंडल के वरीय प्रशासनिक पदाधिकारी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए खुद मॉनिटरिंग करते रहे। नववर्ष के पहले दिन आकाशीय रज्जू मार्ग का सफर करने के लिए पूरे दिन लंबी लाइन लगी रही। पिकनिक मनाने वालों के मन में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का डर नहीं था। मंहगाई और बेरोजगारी का सिकन भी किसी के चेहरे पर नहीं था। सभी उमंग और उत्साह से भरे थे। लोग एक दूसरे को नववर्ष की शुभकामनाएं देते देखे गए।

अधिकांश लोग मोबाइल से ही नववर्ष की शुभकामनाएं देते और लेते रहे। मीट और मुर्गे की दुकान पर ग्राहकों की लंबी कतार लगी रही। राजगीर के जंगलों, झुरमुटों, जलाशयों, धरोहर स्थलों, पहाड़ियों और पहाड़ी ढलानों पर करीब चार – पांच लाख लोगों ने नववर्ष का पिकनिक मनाया। मनचहा सुस्वादिष्ट भोजन का परिवार के साथ लोगों ने आनंद लिया। अत्यधिक भीड़ रहने के कारण हजारों लोग पिकनिक स्पॉट तक पहुंचने से भी वंचित रह गए। उन्हें नव वर्ष पर पिकनिक नहीं मनाने का मलाल साल रहा था।

पिकनिक मनाने वालों में युवा वर्ग के पुरुष और महिलाओं सहित बच्चों की संख्या सर्वाधिक देखी गयी। इसी प्रकार विश्व विश्रुत नालंदा और भगवान महावीर स्वामी की निर्वाण भूमि पावापुरी में भी नववर्ष की पिकनिक मनाने वालों की भारी भीड़ लगी रही। दशकों बाद नव वर्ष के मौके पर राजगीर और नालंदा में रिकॉर्ड तोड़ भीड़ पहुंची। विश्व धरोहर के दक्षिण कपटिया और राजेंद्र नगर तक और उत्तर में ह्वेनसांग मेमोरियल हॉल तक वाहनों की लंबी कतार लगी रही। साप्ताहिक छुट्टी रहने के कारण शुक्रवार को पुरातत्व संग्रहालय नववर्ष के मौके पर बन्द रहा। ऐसा लम्बे अर्से बाद हुआ है।

इस कारण साल के पहले दिन लोग संग्रहालय देखने से बंचित रह गये। भीड़ के अनुपात में शुक्रवार को राजगीर और नालंदा छोटी पड़ गयी। राजगीर, नालंदा और पावापुरी की सभी सड़कों पर सुबह से शाम तक वाहनों का रेला चलता रहा। उम्मीद से अधिक गाड़ियों के आने से राजगीर अस्त व्यस्त हो गया। राजगीर से जुड़ी सभी सड़कों पर दिन भर यातायात अस्त-व्यस्त रहा।

अजातशत्रु किला मैदान, मेला थाना, मलमास मेला सैरात भूमि, सर्कस मैदान, हॉकी ग्राउंड, के अलावे उत्तर में राजगीर से हसनपुर और दक्षिण में वनगंगा तक सड़कें जाम रही। राजगीर के किला मैदान में पुलिस द्वारा वाहनों की पार्किंग करायी गयी तब भी जाम से राजगीर कराहते रहा। बिहार के अलावे झारखंड से भी बड़ी संख्या में लोग पिकनिक मनाने के लिए राजगीर पहुंचे हैं। राजगीर के अलावे नालंदा और पावापुरी में भी यातायात व्यवस्था और भीड़ को नियंत्रित करने के लिए दंडाधिकारी पुलिस पदाधिकारी के अलावे पुरुष और महिला आरक्षी बड़ी संख्या में तैनात किए गए हैं।

Comments are closed.