व्यवसायी की गला रेत कर निर्मम हत्या के बाद परिजन में मचा कोहराम

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:- कपड़ा व्यवसायी की गला रेत कर निर्मम हत्या करने के बाद परिजन के बीच कोहराम मच गया। परिजन के चीख और चीत्कार से पूरा माहौल गमगीन हो गया। मृतक की मां कमला देवी,पत्नी रेखा देवी का रो-रो कर बुरा हाल हो रहा था। बेटे के वियोग में मां कमला देवी के आंखों से आंसू रुक नहीं रही थी तो पति से बिछड़ने के गम में पत्नी रेखा देवी बार-बार बेहोश हो रही थी। घटना के दिन मृतक की पत्नी रेखी देवी अपने नैहर लखीसराय में थी। परिजन ने बताया कि मृतक टूनटून साव घर का एक मात्र कमाऊ पुत्र था। जो रेडीमेड का दूकान कर अपने परिवार का भ्रन-पोषण करता था। ग्रामीणों ने बताया कि टुनटुन बहुत शांत स्वभाव का था उसका कभी भी किसी से झगड़ा नहीं हुआ था। लेकिन फिर भी उसकी निर्मम हत्या लोगों के समझ से परे हो रहा था। हालांकि ग्रामीणों दबे जुबान से बताया कि उसका व्यवसाय अच्छा चलने लगा था जो कई लोगों के आंखों में खटक रहा था जिस कारण उसकी हत्या हो गई। परिजन ने बताया कि मृतक दो भाई में छोटा था। जबकि उसकी चार बहन है। सभी बहन और भाई की शादी हो चुकी है। उसका बड़ा भाई कुछ नहीं करने के कारण वह ही पूरे परिवार का भरण-पोषण कर रहा था। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि मृतक को दो पुत्र है एक पुत्र पांच साल का प्रेम कुमार है जो विलकांग है जबकि दूसरा पुत्र 3 साल गोलू कुमार है।
————–
-तीन माह पहले कपड़ा व्यवसायी की दूकान में लगी थी आग
-सीसीटीवी फुटेज से आग लगाने वालों की हुई थी शिनाख्त
-समझौता के बाद आरोपित द्वारा व्यवसायी को दिया गया था 5 लाख

जमुई:-तीन माह पहले नवीनगर मोड़ के समीप कपड़ा व्यवसायी टुनटुन साव की रेडीमेड दूकान में देर रात्रि आग लगा दी गई थी। जबतक लोग आग पर काबू पाते तबतक पूरा दूकान कपड़ा के साथ धू-धू कर जलकर राख हो चुका था। जिसकी सूचना टाउन थाना में दी गई थी। मृतक कपड़ा व्यवसायी टुनटुन साव की बहन पार्वती देवी ने बताई की आग लगाने वालों की शिनाख्त सीसीटीवी फुटेज से की गई थी। उन्होंने बताई की उसके गोतिया बजरंगी साव सहित अन्य सभी सात भाइयों द्वारा आग लगाई गई थी। जिसको लेकर उनलोगों ने केस करने से मना करते हुए क्षति की भरपाई करने की बात कही थी। जबकि उनलोगों ने हल्ला करने से मना करते हुए घर में ही डरा-धमका कर 5 लाख रुपये मुआवज़ा के तौर पर क्षति-पूर्ति के लिए दिया था।
———–
-पैसा देने के बाद पूरे परिवार को जान से मारने की दी थी धमकी

पार्वती देवी ने बताई की पैसा देने के दौरान उनलोगों द्वारा जान से मारने की धमकी दी गई थी। साथ ही जबसे अगलगी की घटना को अंजाम दिया गया था तब से उनलोगों द्वारा पूरे परिवार को काट देने की भी धमकी दी जा रही थी। इसी रंजिश के वजह से उन्हीं लोगों द्वारा भाई टुनटुन साव की निर्मम हत्या गला रेत कर की गई है।

Comments are closed.