शांति समिति बैठक में जिलाधिकारी ने लगाया प्रतिमा विसर्जन में डीजे प्रयोग पर पूर्ण प्रतिबंध

सौरभ कुमार की रिपोर्ट
गया: जिलाधिकारी अभिषेक सिंह एवं वरीय पुलिस अधीक्षक राजीव मिश्रा की संयुक्त अध्यक्षता में आयोजित जिला शांति समिति की बैठक समाहरणालय सभाकक्ष में की गई। बैठक में शांति समिति के सदस्यों से बारी-बारी करके सरस्वती पूजा के दौरान शांति व्यवस्था एवं विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपेक्षित विचार लिये गए। बैठक में बृजनंदन पाठक, मणिलाल बारिक, मोहम्मद खालिद, मनसूर रहमान, इकबाल हुसैन, अरशद परवेज, किरण वर्मा, प्रमोद भदानी, शिव बचन सिंह एवं अन्य ने अपने अपने विचार रखें। उन्होंने कहा कि कोयरिवारी, नूतन नगर, चांद चौरा, पितामहेश्वर एवं नादरागंज इलाके में विशेष चौकसी बरती जानी चाहिए। इकबाल हुसैन ने कहा कि सभी धार्मिक पुस्तकों में क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए यह अंकित है। इसका सार छपाई करा कर आयोजकों के बीच वितरित करनी चाहिए। जिलाधिकारी ने शांति समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार द्वारा इस बार प्रतिमा विसर्जन के दौरान डीजे के प्रयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है। सभी थानों को हिदायत दी गई है कि अपने-अपने क्षेत्र के डीजे व्यवसायियों से बैठक कर उन्हें इससे अवगत कराएं। उन्होंने कहा कि किसी को ध्वनि विस्तारक यंत्र का इस्तेमाल करना है तो उसकी जुलूस की अनुमति के साथ इसकी भी अनुमति लेनी पड़ेगी साथ ही 75 डेसिबल आवृत्ति से अधिक की ध्वनि पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए सभी पुलिस पदाधिकारियों को एक एप्प उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रतिमा का विसर्जन नये रूट से नहीं किया जाएगा। विगत वर्ष में जिस रूट से जुलूस गुजरता रहा है उसी रूट से जुलूस गुजरेगा। नए रूट के लिए अनुमति लेनी होगी। जिसके लिए संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी एवं स्थानीय नागरिकों से पूछताछ कर एवं अच्छी तरह से जांच कर ही प्रतिवेदन देंगे, इसके बाद ही एलाऊ किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर प्रायः आपत्तिजनक पोस्ट कर दिया जाता है। शांति समिति के सदस्य इसे रुकवाने का प्रयास करें। यदि ग्रुप एडमिन नहीं सुनता है तो प्रशासन को सूचित करें, प्रशासन द्वारा उचित कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि व्हाट्सएप एवं फेसबुक के ग्रुप एडमिन की व्यक्तिगत जिम्मेदारी होगी कि वे वैसे पोस्ट को अविलंब हटाए एवं संबंधित व्यक्ति को भी उस ग्रुप से निकाले। प्रशासन के नजर में आने पर संबंधित ग्रुप एडमिन के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि हमारा स्पष्ट निर्देश है कि जिस संस्थान में, जिस परिसर में पूजा का आयोजन किया जा रहा है, किसी भी प्रकार की गड़बड़ी पूजा/विसर्जन के दौरान होने पर उस संस्थान/परिसर के मालिक को जिम्मेदार माना जाएगा और कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने शांति समिति के सभी सदस्यों को निर्देश दिया कि शांति पूर्वक पूजा संपन्न कराएं। उन्होंने कहा कि किसी भी पूजा पंडाल में आगामी लोकसभा निर्वाचन के मद्देनजर या धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने वाले कार्टून पोस्टर नहीं लगना चाहिए, यह आयोजक सुनिश्चित करेंगे एवं शांति समिति के सदस्य इस पर नजर रखेंगे। उन्होंने सभी शांति समिति के सदस्यों से अपील की कि सालों भर सक्रिय रहें तथा अफवाह फैलाने वाले एवं शराब कारोबारी पर नजर रखें। वरीय पुलिस अधीक्षक राजीव मिश्रा ने संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में 15 फरवरी तक सेना भर्ती रैली चल रही है, 16 फरवरी तक इंटरमीडिएट की परीक्षा चलेगी, जिसमें अधिकतर पुलिस पदाधिकारी एवं दंडाधिकारी प्रतिनियुक्त है। इसलिए सभी प्रतिमा का विसर्जन हर हाल में 11 फरवरी को करना होगा। उन्होंने कहा कि प्रतिमा का विसर्जन दिन में ही हो यह आयोजक सुनिश्चित करेंगे। धार्मिक स्थलों के समीप विशेष सतर्कता बरती जाएगी। संवेदनशील जुलूस की वीडियो ग्राफी कराई जाएगी। धार्मिक स्थल एवं विसर्जन स्थल पर पर्याप्त प्रकाश की व्यवस्था रहेगी। आगामी चुनाव एवं पर्व को देखते हुए धारा 107 और 116 के तहत कार्रवाई की जा रही है।

बैठक में उपस्थित नगर पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह, उप विकास आयुक्त किशोरी चौधरी, सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, उप निदेशक जन संपर्क नागेंद्र कुमार गुप्ता, सभी थानों के पुलिस पदाधिकारी एवं शांति समिति के सदस्य उपस्थित थे।

Comments are closed.