शिविर में पहुंचे कई दिव्यांगों को बिना जांच के होना पड़ा वापस

रिपोर्ट, मो. अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई: दिव्यांगों द्वारा ऑनलाइन फॉर्म की प्रक्रिया पूरी करने के बाद बुधवार को सदर अस्पताल के सभागार में दिव्यांग जांच शिविर लगाया गया था। जहां विभिन्न प्रखंड के दिव्यांग जांच के लिए पहुंचे थे। इस दौरान कई दिव्यांगों का सर्टिफिकेट पहले से बने होने की वजह से उनलोगों को शिविर से वापस कर दिया गया। जिसको लेकर दिव्यांगों ने स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ नाराजगी जताई है। दिव्यांगों में डब्ल्यू पंडित और मु. शाहिद ने बताया कि उनलोगों के मोबाइल पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा मैसेज भेजा गया था और 25 नवंबर को शिविर में बुलाया गया था।

हमलोगों का सर्टिफिकेट पहले से बना हुआ था। लेकिन मैसेज में यह बात नहीं बताई गई थी सभी लोगों को बुलाया गया जिस वजह से हमलोग काफी दूर-दूर से परेशान होकर आए हैं। दिव्यांगों ने नाराजगी जताते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की वजह से हमलोगों को मुसीबत उठानी पड़ी है। वहीं दिव्यांगों में सुधीर कुमार यादव, राजेश मण्डल, गोपाल साव, मु. शाहिद, अलीगंज,बकराम साह, गोल्डन कुमार, गुड़िया देवी,बाल्मीकि कुमार यादव,नीतू कुमारी, पवन कुमार साव,युगल किशोर यादव, महेश कुमार सहित अन्य लोग शामिल थे।

हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. मनीषी आनंत,ने बताया की शिविर में जिन दिव्यांगों जांच नहीं हुआ था उनका जांच किया गया है। जिसका पहले से सर्टिफिकेट बना हुआ है उसका जांच नहीं किया गया है। इस बार ऑनलाइन होने की वजह से मामला सामने आया है। इससे पहले जिसका सर्टिफिकेट बना हुआ भी रहता था वो दो-तीन बार आकर फिर से जांच करवा लेता था जिसकी जानकारी नहीं हो पाती थी। लेकिन अब जिनको सर्टिफिकेट मिल गया है उसे जांच से रोक दिया गया है।

 

Comments are closed.