सदर अस्पताल ने संदिग्ध को किया रेफर

 

-सिंगारीटांड़ के युवक को कोरोना के जांच के लिए भेजा गया था भागलपुर

-मुम्बई से आया था युवक घर, चलाता था ऑटो

-सूचना के बाद पुलिस द्वारा भेजा गया था सदर अस्पताल

-युवक के संपर्क में आये 4 लोगों को आईसुलशन वार्ड में रखा गया था रातभर

रिपोर्ट, मो. अंजुम आलम, जमुई (बिहार)  
जमुई: खैरा प्रखंड के सिंगारीटांड़ गांव से शुक्रवार की रात पुलिस द्वारा कोरोना वायरस के संदिग्घ को सदर अस्पताल भेजा गया। चिकित्सक द्वारा संदिग्ध को रात में सदर अस्पताल में बने आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था। साथ ही उसके संपर्क में आए अन्य 4 लोगों को भी आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया था। शनिवार की सुबह संदिग्ध युवक को चिकित्सक द्वारा भागलपुर मेडिकल कॉलेज जांच के लिए भेजा गया। बाकी अन्य लोगों की जांच कर लक्षण नहीं पाए जाने पर छोड़ दिया गया। भागलपुर में चिकित्सक ने युवक का जांच करने बाद उसे स्वास्थ बताया है। इस बात की पुष्टि सदर अस्पताल उपाधीक्षक डा. सैयद नौशाद अहमद ने की। बता दें कि शुक्रवार की रात सिंगारीटांड़ गांव के कुछ ग्रामीणों ने पुलिस को फोन कर बताया था कि गांव के नरेश साव का पुत्र मनीचन साव मुम्बई से आया है। उसे बुखार और खांसी आदि की शिकायत है। इस बात की सूचना मिलते ही पुलिस एम्बुलेंस को लेकर युवक के गांव पहुंच गई और युवक को एम्बुलेंस पर सवार कर जांच के लिए सदर अस्पताल ले आई। साथ ही एम्बुलेंश के साथ युवक के पिता और युवक के तीन साथी भी साथ आ गए। सदर अस्पताल पहुंचने पर युवक के साथ चारों लोगों को सदर अस्पताल में बनाया गया आईसुलेशन वार्ड में रखा गया। शनिवार की सुबह चारों लोगों को छोड़ दिया गया, जबकि युवक मनीचन साव को जांच के लिए भागलपुर मेडिकल कॉलेज भेजा गया। जहां चिकित्सक ने जांच के बाद कोरोना वायरस नहीं होने की पुष्टि की।

Comments are closed.