समारोह पूर्वक मनाया गया जिला स्थापना दिवस, कई सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित

अंजुम आलम की रिपोर्ट
जमुई: पूरे हर्षाेल्लास के साथ गुरुवार को जिला स्थापना दिवस समारोह मनाया गया। स्थापना दिवस के मौके पर पूरे दिन कार्यक्रमों की धूम मची रही। गुरुवार की सुबह प्रभात फेरी निकाल कर कार्यक्रम की शुरूआत की गयी। स्टेडियम परिसर से प्रभात फेरी निकाली गयी जो मुख्य बाजारों का भ्रमण करते हुए पूनः स्टेडियम के मैदान में समाप्त हुआ। सुबह निर्धारित समय पर स्टेडियम का मैदान स्थित स्वतंत्रता सेनानी श्रीकृष्ण की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया गया। इस मौके पर बिहार सरकार के ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार,पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह, पूर्व विधायक सुमित कुमार, पूर्व विधायक अजय प्रताप समेत कई वरीय अधिकारी और शहर के प्रवुद्ध नागरिक मौजूद थे। इसके बाद स्टेडियम के मैदान में ही श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गयी। उपस्थित लोगों ने श्री कृष्ण की जीवनी पर प्रकाश डाला। जिला स्थापना दिवस समारोह सह श्री कृष्ण सिंह की 100 वीं जयंती समारोह का उद्घाटन मंत्री श्रवण कुमार पूर्व मंत्री दामोदर रावत, डीएम धर्मेंद्र कुमार एसपी जे. रेड्डी, पूर्व विधायक अजय प्रताप पूर्व विधायक सुमित कुमार सिंह डीडीसी सतीश कुमार शर्मा के अलावा अन्य जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर व गुब्बारा उडा कर किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रभारी मंत्री के अनुपस्थिति में जिलाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार ने किया। जबकि कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन किया। जिले स्थापना दिवस के मौके पर डीएम धर्मेंद्र कुमार ने कहा कि जब तक जिलेवासी विकास कार्यों में सहयोग नहीं करेंगे तब तक जिले का समुचित विकास नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि प्रशासन विकास कार्यों में सब कुछ नहीं होता है। इसके लिए सभी का सहयोग जरूरी होता है। 28 वर्ष के कार्यकाल में जिले के सुदूर क्षेत्रों में विकास को ले जाया गया है। उन्होंने कहा कि 28 से 45 वर्ष की आयु मेहनत और संघर्ष का होता है। उस स्टेज में जमुई जिला आ चुका है। उन्होंने कहा कि सभी जिले वासी को यह समझना होगा कि जमुई मेरा है तभी धरातल पर काम दिखेगी। डीएम ने मुख्यमंत्री के सात निश्चय पर विस्तार पूर्वक चर्चा की। उन्होंने समाजिक कुरीतियों के विरूद्ध मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा शुरू किये गये अभियान और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता अभियान को आगे बढ़ाने के लिए सभी लोगों से सहयोग की अपील की। डीएम ने जिला स्थापना दिवस के मौके पर सभी लोगों को शुभकामनाएं दी। जिन्होंने इस जिले के विकास में अपना योगदान दिया। इससे पूर्व बिहार सरकार के पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह ने कहा कि जमुई को मैंने जिला का दर्जा दिलाया है। वर्ष 1990 में मैं सूबे का स्वास्थ्य मंत्री बना था उसके एक वर्ष बाद जिला का स्थापना हुआ था। जिला के स्थापना होने से यहां के लोगों को सहुलियत मिली। मुंगेर जाने की परेशानी समाप्त हो गयी। उन्होंने अपने पिता स्वर्गीय श्री कृष्णा बाबू के जीवनी पर भी प्रकाश डाला। श्री सिंह ने कहा कि श्री बाबू सिर्फ मेरे ही नहीं इस जिले के अभिभावक थे। उन्होंने अंग्रेजों से लोहा लेकर देश को आजाद कराया था। आजादी के बाद वे राज्य और इस जिले में समता मूलक समाज के निर्माण में अहम भूमिका निभायी थी। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा शराब बंदी बाल विवाह और दहेज प्रथा के उन्मूलन में चलाये गये अभियान की प्रशंसा की। पूर्व मंत्री ने जमुई जिले के विकास कार्यों को जमुई की जनता के लिए समर्पित करने की बात कही। उन्होंने यह भी कहा कि विकास कार्यों में जिला प्रशासन को पूर्ण सहयोग रहेगा। पूर्व मंत्री दामोदर रावत ने जिला स्थापना दिवस समारोह में कहा कि श्री बाबू एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे। उन्होने देश की आजादी के लिए कई आंदोलन किये थे। उन्हें वर्षों तक जेल में भी रहना पड़ा था। उन्हीं की जयंती के मौके पर इस जिले की स्थापना हुई है। पूर्व मंत्री श्री रावत ने कहा कि मंत्री रहते हुए मैंने जिले में कई विकास कार्यों को कराया है। सभी विकास कार्य श्री बाबू के सपनों का था। उन्होंने कहा कि वर्ष 1967 में श्री बाबू के प्रयास से ही गांव-गांव में बिजली पहुंची थी। जिले के चकाई विधान सभा क्षेत्र के पूर्व विधायक सुमित कुमार ने कहा कि हमारे पूर्वज अपने जीवनकाल में और उसके बाद भी हमारे पथप्रदर्शक होते हैं।उनकी कृतियां, कृतित्व, उसूल, विचार, जीवनशैली हमें राह दिखाती है।उनकी सफलताएं हमें उत्साहित गौरवान्वित करती है तो उनकी कुर्बानी हमें और बड़े बलिदान देने को प्रेरित करती है। श्रीबाबू ने अपने जीवन से जो संदेश दिया, उस पर अक्षरशः कायम रहना हमारी पहली जिम्मेदारी है। आप अपने इतिहास पुरुषों, इतिहास नेत्रियों को सिर्फ याद रख सेवउनके सच्ची संतति नहीं हो सकते।बल्कि,आपको उनका अनुगमन, अनुशरण करना होगा, तभी आप उनके असली अनुयायी बन सकते हैं। जो अनुयायी होगा, वही उनका संतति भी साबित होगा। जमुई के पूर्व विधायक अजय प्रताप सिंह ने कहा कि मैं शौभाग्यशाली हूं की इतने बड़े स्वतंत्रता सेनानी का पौत्र हूं। श्रीबाबू के विचारों पर उन्होंने कहा कि जिले में आज जो भी विकास हुआ है या हो रहा है उसका खाका श्रीबाबू ने ही खिंचा था। श्रीबाबू जब राज्य के सिचाई मंत्री व विधुत मंत्री रहे थे। तो उसी समय से जिले के किसानों गरीबों के उत्थान के लिए अनेकों काम किये। वहीं स्थापना दिवस समारोह को पूर्व विधायक अजय प्रताप, सुमित कुमार सिंह, जदयू के प्रदेश महासचिव, जदयू जिलाध्यक्ष शिवशंकर चौधरी, पूर्व जिप अध्यक्ष ब्रहमदेव रावत सहित कई लोगों ने संबोधित किया। मौके पर डीडीसी सतीश कुमार शर्मा, डीआरडीए, पवन सिंह रावत, जेपी सेनानी राजेश सिंह, जदयू नेता पंकज सिंह, राकेश पासवान, प्रो सुकदेव ठाकुर शर्मा सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Comments are closed.