सस्पेंस समाप्त राजगीर से जदयू ने कौशल किशोर को दिया टिकट

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास ,नालंदा।
नालंदा;-राजगीर विधानसभा क्षेत्र ( सुरक्षित) में एनडीए गठबंधन के जदयू और महागठबंधन के कांग्रेस से सीधा मुकाबला होना लगभग तय है।राजगीर के निवर्तमान विधायक रवि ज्योति कुमार का टिकट कट गया है।उनकी जगह हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य के पुत्र कौशल किशोर (मणिकांत कुमार आर्य) क टिकट दिया है।कौशल किशोर बुधवार को ही जदयू की सदस्यता ग्रहण किए हैं।कौशल किशोर को एनडीए गठबंधन से टिकट मिलने से क्षेत्र के लोगों में काशी खुशी देखी जा रही है।

हालांकि जदयू के निवर्तमान विधायक रवि ज्योति कुमार आश्वस्त थे कि उन्हें ही टिकट मिलेगा।उनके द्वारा बुधवार को भी क्षेत्र में जनसंपर्क अभियान भी चला गया है।जानकार बताते हैं कि क्षेत्र में निवर्तमान विधायक के खिलाफ वोटरों में गहरी नाराजगी थी।शायद इन्हीं कारणों से निवर्तमान विधायक का टिकट कटा है।हरियाणा के राज्यपाल एवं राजगीर के पूर्व विधायक सत्यदेव नारायण आर्य के पुत्र कौशल किशोर (मणिकांत कुमार आर्य) के जदयू ज्वाइन करने के बाद ही सस्पेंस बढ़ गया था।

बुधवार को पूरे दिन चर्चा होती रही और कयास लगाया जाता रहा कि एनडीए गठबंधन से टिकट निवर्तमान विधायक रवि ज्योति कुमार को मिलता है या हरियाणा के राज्यपाल पुत्र को। इधर कांग्रेस के टिकट के लिए राजगीर के श्याम देव राजवंशी, गिरियक के राजेंद्र चौधरी और नवादा के संजय पासवान दिल्ली में दरबार लगाए हैं।इन्हीं तीन नामों पर पार्टी के द्वारा मंथन किया जा रहा है।श्यामदेव राजवंशी के अनुसार उनका नाम सूची में सबसे ऊपर है।

वही संजय पासवान को उम्मीद है कि कांग्रेस के दिग्गज तारीक अनवर की सेवा और सानिध्य का लाभ उन्हें मिलेगा।दूसरी तरफ राजेंद्र चौधरी का दावा है कि राजगीर विधानसभा क्षेत्र में अनुसूचित जाति में सबसे अधिक वोट उनके समाज का है।इसलिए उनको ही टिकट मिलना चाहिए।हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य के पुत्र कौशल किशोर (मणिकांत कुमार आर्य) ने जदयू की सदस्यता बुधवार को ग्रहण की है।जदयू के राष्ट्रीय संगठन महासचिव एवं राज्यसभा सांसद रामचंद्र प्रसाद सिंह ने उन्हें सदस्यता प्रदान की।

उस मौके पर विधान पार्षद संजय गांधी एवं अन्य प्रमुख लोग उपस्थित थे।हरियाणा राज्यपाल राजगीर विधानसभा क्षेत्र (सुरक्षित) से आठ बार भाजपा विधायक चुके हैं।लेकिन आर्य 2015 के चुनाव में महागठबंधन के जदयू प्रत्याशी रवि ज्योति कुमार से पराजित हो गये थे।श्री आर्य के भाजपा के प्रति समर्पण और एक दल में रहकर एक विधानसभा से आठ बार विधायक बनने का रिकार्ड बनाने के कारण ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें हरियाणा का राज्यपाल बनाया है। सत्यदेव नारायण आर्य राजगीर के पहले व्यक्ति हैं, जिन्हें राज्यपाल बनाया गया है। वे दो बार बिहार मंत्रीमंडल के सदस्य भी रह चुके हैं।

Comments are closed.