सिविल सर्जन ने सदर अस्पताल का किया औचक निरीक्षण,कर्मियों को लगाई फटकार

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई: सिविल सर्जन डॉ. श्याम मोहन दास और डॉ. विजयेन्द्र सत्यार्थी द्वारा बुधवार को अचानक सदर अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। सदर अस्पताल पहुंचते ही स्वास्थ्य कर्मियों में हड़कंप मच गई। देखते ही देखते सभी कर्मी अपने-आपने कार्यों में लीन हो गए। इस दौरान दोनों अधिकारी द्वारा दवा काउंटर का निरीक्षण किया गया। साथ ही मौजूद अधिकारियों से दवा के स्टॉक की जानकारी ली। उसके बाद इमरनेंसी वार्ड पहुंचे, जहां सफाई के बावजूद फर्श गंदे रहने के बाद सिविल सर्जन ने सफाई कर्मी को जमकर फटकार लगाई। और आइंदा ऐसी हरकत सामने आने पर कार्रवाई करने की बात कही। साथ ही एएनएम स्कूल लक्ष्मीपुर से प्रशिक्षण के लिए आई एएनएम की भी सिविल सर्जन ने क्लास लगते हुए उनलोगों से सूई देने, बीपी जांच करने, कौन मरीज को क्या बीमारी है उसकी पूरी जानकारी ली। और सख्त हिदायत दिया कि प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए सभी एएनएम 8 बजे सुबह सदर अस्पताल पहुंच जाएं। उन्होंने कार्यरत कर्मियों को निर्देश देते हुए कहा कि प्रशिक्षण लेने आई सभी 32 एएनएम को हर विभाग में बारी-बारी से लगाकर प्रशिक्षण दें। उसके बाद भर्ती मरीजों से भी सीएस ने बारी-बारी से मिलकर हाल जाना और कार्यरत कर्मियों को बेहतर तरीके से इलाज करने की हिदायत दी। इस दौरान युवा क्लिनीक पहुंच कर फैमली प्लानिंग की परामर्शी से पुरूष नसबंदी कार्यक्रम की जानकारी लेते हुए कई आवश्यक दिशा व निर्देश भी दिए।
———
-निरीक्षण के दौरान जांच पंजी से बीपी और वजन का कॉलम मिला खाली

प्रसुता जांच केंद्र में मौजूद ए ग्रेड नर्स द्वारा प्रसुता की जांच किस प्रकार की जा रही है इसकी जब जानकारी लेने सीएस और एसीएमो पहुंचे तो कई खामियां सामने आई जिसे देख सिविल सर्जन भड़क गए। गर्भवती की जांच के लिए रजिस्टर में बनाये गए कॉलम में बीपी और वजन अंकित नहीं रहने पर एएनएम को जमकर फटकार लगाई। साथ ही कई अन्य खामियों को लेकर कई आवश्यक दिशा व निर्देश भी दिए। साथ ही सीएस ने पैथोलोजी केंद्र पहुंचे जहां सीबीसी मशीन को चालू करवा कर जांच की। उसके बाद लेबर रूम सहित अन्य विभागों का बारी-बारी से निरीक्षण किया।

Comments are closed.