सीएम के आगमन पूर्व अपर मुख्य सचिव एवं डीजीपी ने लिया सुरक्षा का जायजा

फोटो – हेलीपैड पर अधिकारी।
रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास,नालंदा।
राजगीर;-गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद और पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल सोमवार को हेलीकॉप्टर से राजगीर पहुंचे।यहां पहुंचने पर डीएम योगेंद्र सिंह और एसपी हरिप्रसाथ एस ने दोनों अधिकारियों का स्वागत किया।हॉकी ग्राउंड में दोनों वरिष्ठ अधिकारियों को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। पटना केंद्रीय प्रक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक संजय सिंह और मुख्यमंत्री के ओएसडी डॉ गोपाल सिंह भी साथ आये थे।अपर मुख्य सचिव डीजीपी के साथ सभी अधिकारी सीधे नेचर सफारी गए।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की 26 मार्च को राजगीर का दौरा प्रस्तावित उद्घाटन की तैयारियों का उनके द्वारा जायज़ लिया गया।मुख्यमंत्री के द्वारा उस तिथि को राजगीर को होली के मौके पर नेचर सफारी और आठ सीट वाले रोपवे का तोहफा मिलने वाला है।अपर मुख्य सचिव पुलिस महानिदेशक और अधिकारियों द्वारा करीब डेढ़ घंटे तक नेचर सफारी के चप्पे-चप्पे का मुआयना किया गया और जिला प्रशासन के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए गए।सीएम के राजगीर दौरे के दौरान सुरक्षा व्यवस्था, विधि व्यवस्था और नेचर सफारी में सैलानियों के लिए की गयी सुरक्षा व्यवस्था का उनके द्वारा निरीक्षण किया गया।

नेचर सफारी के उद्घाटन समारोह में उप मुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद और रेणु देवी के अलावे पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री नीरज सिंह बवलू एवं पर्यटन मंत्री भी शामिल होंगे।मुख्य सचिव और डीजीपी के आगमन पर प्रेस को उनसे मिलने पर स्थानीय पुलिस द्वारा रोक लगा दी गई थी।नीचे सफारी का भ्रमण और मुआयना करने के बाद सुबह के आला अधिकारियों द्वारा फॉरेस्ट गेस्ट हाउस में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक की गई।बैठक के दौरान मुख्यमंत्री के आगमन पर होने वाले सुरक्षा व्यवस्था और उद्घाटन के दौरान की गई व्यवस्था के बारे में आला अधिकारियों ने जिला प्रशासन से जानकारी हासिल की।मुख्यमंत्री के आगमन पर सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया।

डीएफओ डॉ नेशा मणि के ने बताया कि नव निर्मित नेचर सफारी का आलाधिकारियों द्वारा जायजा लिया गया है।नेचर सफारी पर्यटकों के आवागमन के दौरान समुचित सुरक्षा और विधि व्यवस्था की तरह बारीकी से जायजा लिया गया।उन्होंने बताया कि नेचर सफारी में प्रकृति से साक्षात्कार की तमाम व्यवस्था है। रोमांचक मनोरंजन के अलावे विभिन्न इवेंट की व्यवस्था की गई है।जहां पर्यटक सपरिवार प्रकृति के बीच आनंद उठा सकेंगे।

जानकार बताते हैं कि नेचर सफारी में पर्यटकों की सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस पदाधिकारी और पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति पुलिस अधीक्षक द्वारा की जा चुकी है।नेचर सफारी में प्रस्तावित थाना भवन निर्माण स्थल का भी डीजीपी द्वारा निरीक्षण किया गया।सफारी में किसी भी प्रकार के मामले का संधारण तथा कानूनी कार्रवाई किया जा सके।आलाधिकारियों द्वारा फिलहाल आउट पोस्ट बनाकर पर्यटकों को सुरक्षा देने का निर्णय लिया गया है।

Comments are closed.