हत्या में संलिप्त पिता की गिरफ्तारी नहीं होने पर माँ व ग्रामीणों ने एसपी को दिया आवेदन

अंजुम आलम की रिपोर्ट
जमुई: संपत्ति के लालच में बेरहम पिता ने अपने पुत्र की ही बली चढ़ा दी थी और साक्ष्य छुपाने को लेकर शव को जंगल में एक पेड़ से लटका देने के मामले में शनिवार को मृतक की माँ के साथ दर्जनों ग्रामीणों ने शहर स्थित समाहरणालय के गेट के समक्ष प्रदर्शन करने लगे और चन्द्रमंडीह पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। उग्र ग्रामीणों ने गौतम यादव हत्याकांड के आरोपी पिता कुलदेव यादव और इसमें संलिप्त उसके सहयोगियों को अभिलंब गिरफ्तार करने की मांग करने लगे। वहीं लोगों ने चन्द्रमंडीह थाना की पुलिस पर आरोपियों के साथ मिलकर हत्या के मामले को दबाने का आरोप लगाया है। ग्रामीण लगातार अरुण के हत्यारे को गिरफ्तार करो, अरुण की माँ को इंसाफ दो, चन्द्रमंडीह पुलिस होश में आओ आदि नारे लगा रहे थे। मालूम हो कि मृतक अरुण यादव के पिता कुलदीप यादव और उसकी मां के बीच आपसी घरेलू झगड़ा चल रहा था दो पति-पत्नी के बीच ठीक-ठाक नहीं था। इसलिए अरुण अपनी मां के साथ नानी घर में रहता था। इसी दौरान कुलदीप ने अपने पुत्र को किसी बहाने से बुलाया और सहयोगियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। 16 मार्च की रात सिमुलतला में अपने नानी घर में रह रहे अरूण यादव का चंद्रमण्डीह थानाक्षेत्र के बसबुटिया जंगल में फंदे से लटका शव मिला था। इस घटना में मृतक की मां ने अपने पति यानि मृतक के पिता व उसके अन्य परिजनों पर जमीनी विवाद में हत्या का आरोप लगाया था। समाहरणालय का घेराव करने पहुंचे सैकड़ो ग्रामीणों ने एसपी जगुन्नाथ रेड्डी को एक आवेदन सौंपते हुए कहा कि घटना में शामिल अरूण के पिता कुलदेव यादव एवं उसके अन्य सहयोगियों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर रही है और हत्या करने के बाद भी उसके आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। जिस वजह से आरोपियों का मनोबल बढ़ा हुआ है। ग्रामीणों ने एसपी से गुहार लगाई की इस घटना की अविलंब निष्पक्ष जांच हो और जल्द से जल्द अरूण के हत्यारे को सजा दी जाए। आवेदन देने वालों में अरूण की मां सहित सिमुलतला के सुरेश यादव, सचिन्द्र यादव, जानकी यादव, नुनेश्वर यादव, कामेश्वर यादव, ठाकुर यादव सहित सौ से अधिक लोगों के हस्ताक्षरयुक्त आवेदन एसपी को सौंपा। एसपी जगुन्नाथ रेड्डी ने लोगों को जल्द से जल्द जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया।
अरुण हत्याकांड के एक आरोपी महिला को पुलिस ने किया गिरफ्तार
अरुण हत्याकांड में चन्द्रमंडीह पुलिस ने एक आरोपी महिला को गिरफ्तार कर पूछ-ताछ के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। बताते चलें कि गिरफ्तार महिला चन्द्रमंडीह थाना क्षेत्र के तरबदिया गांव के मृतक अरुण की चचेरी भाभी है। वहीं थानाध्यक्ष ए.के.आजाद ने बताया कि अरूण यादव की हत्या में शामिल चन्द्रमंडीह थाना क्षेत्र के तरबदिया गांव निवासी संजय यादव की पत्नी पुदीना देवी को चन्द्रमंडी के घुटवे नैयाडीह गांव से गिरफ्तार किया गया है। वहीं थानाध्यक्ष ने बताया की गिरफ्तार महिला पुदीना देवी ने हत्या में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है। आगे थानाध्यक्ष ने बताया कि अरूण यादव की हत्या जमीन विवाद को लेकर उसके पिता कुलदेव यादव एवं अन्य लोगो के द्वारा कर दी गई थी और साक्ष्य छिपाने की नीयत से बसबुटीया जंगल में पेड़ से शव को लटका दिया गया था।थानाध्यक्ष ने बताया कि अन्य असरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। अभियान में अवर निरीक्षक रंजीत रंजन, मृत्युजय पंडित और बीएमपी के जवान शामिल थे। बता दें कि बीते 17 मार्च को बसबुटीया जंगल में पेड़ से लटकते एक युवक का शव पुलिस ने बरामद किया था। जिसकी पहचान तरबदिया के अरूण यादव के रूप में हुई थी। घटना को लेकर मृतक के मां के बयान पर हत्या का मामला दर्ज हुआ था।

Comments are closed.