10 दिसंबर तक पुराने वित्तीय वर्ष के आय और व्यय का इंट्री करें सुनिश्चित

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:- शहर के समाहरणालय स्थित एनआईसी कक्ष में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ऑन लाईन एकाउंटिंग को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के राज्य अपर निदेशक वित्त योगेंद्र प्रसाद, राज्य वित्त प्रबंधक एके श्रीवास्तव और राज्य लेख वित्त प्रबंधक मनोज साफी ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जिला एवं प्रखंड स्तर के लेखापाल को प्रशिक्षण दिया। इस दौरान उन्होंने बताया कि अब टैली सॉफ्टवेयर पर ऑन लाईन वित्तीय खर्च और आय का इंट्री किया जाना है। साथ ही उन्होंने डाटा एंट्री की पुरानी पद्धति के जगह नए तरीके से डाटा एंट्री की हिदायत उपस्थित कर्मीयों को दी। उन्होंने बताया कि पुराने तरीके से प्रखंड स्तर पर जो भी डाटा इंट्री किया जाता था उसे फिर से जिला स्तर पर इंट्री किया जाता था उसके बाद उसकी डाटा इंट्री को राज्य स्तर पर फिर से किया जाता था। इस इंट्री से सभी लोगों का एक ही कार्य के लिए कई बार समय देना पड़ता था। इसलिए नये तरह से वित्तीय आय और व्यय का जो भी इंट्री प्रखंड स्तर पर होगा। उस डाटा इंट्री को जिला स्तर से लेकर राज्य स्तर के अधिकारी देख सकेंगे। उपस्थित लोगों को नये तरीके के डाटा इंट्री से अवगत कराया गया। साथ ही यह भी निर्देश दिया गया कि 10 दिसंबर तक पुराने वित्तीय वर्ष के आय और व्यय का इंट्री करना है। अगर 10 दिसंबर तक पुराने डाटा का इंट्री नहीं किया जाता है तो 10 दिसंबर के बाद पुराने डाटा इंट्री बंद कर दिया जाएगा। अधिकारियों ने प्रखंड स्तर से लेकर जिला स्तर के लेखापाल को जल्द से जल्द पुराने डाटा इंट्री करने का निर्देश दिया। इस अवसर पर जिला लेखा समन्वयक शशिभूषण पांडेय, नीलेश कुमार, दीपक कुमार, अवधेश कुमार सिंह, पूजा सिंह, पायल राठौर, दिलीप कुमार, पवन कुमार, धर्मवीर कुमार, जगदीश कुमार सहित अन्य कर्मी मौजूद थे।

Comments are closed.