प्रेम-प्रसंग में टांगी से वार कर युवक की कर दी हत्या,शव को मकई के खेत में फेंका


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-जिले के लक्ष्मीपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत केनुहट गांव में शनिवार की देर रात्रि टांगी से वार कर सीताराम तांती के 25 वर्षीय पुत्र मंटू उर्फ आभास कुमार की बेरहमी से हत्या कर दी गई।हत्या के बाद गांव से तकरीबन 200 मीटर की दूरी पर स्थित सीताराम यादव की मकई के खेत में शव को फेंक दिया गया।जब रविवार की सुबह हुई तो शौच के लिए गए ग्रामीणों की नज़र मकई खेत में फेंके युवक के शव पर पड़ी तो इसकी सूचना परिजन को दी गई।इधर हत्या की सूचना के बाद घटना स्थल पर पहुंची पुलिस द्वारा शव को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल जमुई भेज दिया।और हत्या के कारणों के तालाश में जुट गई।फिलहाल आरोपित का पता नहीं चल पाया है पुलिस छानबीन कर रही है।

अपने साथी राहुल के घर सोने गया था युवक
मृतक के बड़े भाई अशोक तांती ने बताया कि मंटू घर से खाना खाने के बाद हमेशा की तरह देर रात्रि वह अपने साथी पड़ोस के स्व:भेदलाल तांती के पुत्र राहुल कुमार के घर सोने गया था।मंटू लगभग 08 महीने से राहुल के साथ ही उसके घर पर सोता था।उन्होंने बताया कि युवक का शव मिलने के बाद जब राहुल से पूछा गया तो उसने रात में घर नहीं आने की बात कह कर कुछ बताने से इनकार कर गया।

युवक राजमिस्त्री का करता था काम
मंटू उर्फ आभास कुमार इंटर तक पढ़ाई किया था।उसके बाद वह गांव में ही राजमिस्त्री का काम करता था।उसका साथी राहुल भी साथ में ही राजमिस्त्री का काम करता था।दोनो के बीच बचपन से ही गहरी दोस्ती होने के बावजूद मंटू के शव को देखने तक नहीं आया जबकि शव को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ लगी हुई थी।जिस वजह से राहुल भी संदेह के घेरे में खड़ा है।

प्रेम-प्रसंग में गई मंटू की जान
बताया जाता है कि मंटू उर्फ आभास कुमार का गांव के ही एक महिला के साथ कई महीनों से प्रेम-प्रसंग चल रहा था।दोनो की प्रेम कहानी गांव के सभी लोग जानते थे।कई बार युवक को महिला के साथ बात करते देखा भी गया था।यह प्रेम-प्रसंग महिला के परिवार वालों को नागंवार गुज़र रही थी।जबकि मृतक के घर वाले द्वारा मंटू को उक्त महिला से मिलने के लिए मना भी किया गया था लेकिन मंटू किसी की एक न सुनी थी।इसलिए आशंका जताई जा रही है कि प्रेम-प्रसंग को लेकर ही मंटू की हत्या की गई है।अब मामला जांच का विषय बना हुआ है कि प्रेमिका ने हत्या करवाई है या किसी और ने मंटू की हत्या की है।लेकिन पूरी कहानी से साफ स्पष्ट होता है की कहानी का अंत साथी और के बीच ही प्रेमिका पर ही दिखाई दे रहा है।जबकि मृतक के बड़े भाई अशोक तांती ने किसी से दुश्मनी होने की बात से साफ इंकार कर दिया है।

शव मिलते ही परिजन में मचा कोहराम
मंटू का शव मिलते ही परिजन में कोहराम मच गया।पूरे गांव में दहशत फैल गई।मां दछिया देवी का रो-रो कर बुरा हाल है।बेटे को खोने के बाद मां बार-बार याद कर बेहोश हो रही है।मृतक चार भाइयों में सबसे छोटा भाई था।पिता सीताराम तांती रांची में रहकर मजदूरी करते हैं जबकि मृतक राजमिस्त्री का काम कर अपनी मां के साथ रहता था।

कहते हैं थानाध्यक्ष
लक्ष्मीपुर थानाध्यक्ष सुभाष कुमार ने बताया कि प्रेम-प्रसंग में युवक की हत्या करने की बात सामने आ रही है।लेकिन अभी तक परिजन द्वारा आवेदन नहीं दिया गया है।आवेदन के बाद कार्रवाई की जाएगी।फिलहाल मामले की छानबीन की जा रही है।

Comments are closed.