आम आदमी पार्टी से गठबंधन पर दो गुटों में बंटी दिल्ली कांग्रेस


ऋषी तिवारी
नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 में एक बार फिर गठबंधन की राजनीति को लेकर सबसे ज्यादा खींचतान राजधानी दिल्ली में चल रही है। कांग्रेस का एक एक तरफ आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन करने के पक्ष में हैं, तो वहीं दूसरा तरफ इसका विरोध कर रहा है। आज इस पक्ष में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इसी मुद्दे पर अंतिम फैसला करेंगे।
गौरतलब है कि सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली के कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक की और जिसमें स्थानीय नेताओं ने आम आदमी पार्टी से गठबंधन को लेकर अपना मत राहुल गांधी को बताया है। दिल्ली कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित इसका विरोध कर रही हैं और दूसरी तरफ पूर्व अध्यक्ष अजय माकन गठबंधन करने के पक्ष में हैं।
प्रभारी पीसी चाको, सह प्रभारी कुलजीत नागरा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन, अरविंदर सिंह लवली, सुभाष चोपड़ा, ताजदार बाबर आम आदमी पार्टी
से गठबंधन के पक्ष में हैं। तो दूसरी तरफ देश अध्यक्ष शीला दीक्षित, कार्यकारी अध्यक्ष हारून युसुफ, राजेश लिलोठिया, देवेंद्र यादव, जेपी अग्रवाल, योगानंद शास्त्री गठबंधन के लिए विरोध जाता रहे है।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सभी नेताओं ने अपना पत्र दे दिया है, जिसके बाद राहुल गांधी आज शाम को अपना फैसला बता सकते हैं। कुल 5 नेताओं ने गठबंधन का समर्थन किया है, तो 6 नेताओं ने विरोध का।

Comments are closed.