अशोक चव्हाण ने कहा है कि महाआघाड़ी में मनसे को जगह नहीं

आर.पी.मौर्या
मुंबई। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अशाके चव्हाण ने व्यक्त किया है कि भले ही राज ठाकरे से संबंध अच्छे हों लेकिन उनकी पार्टी के विचार कांग्रेस से नहीं मिलते इसलिए गठबंधन का सवाल ही नहीं उठता है, लेकिन हम मनसे के साथ गठबंधन नहीं कर सकते है।

कुछ दिनों पहले राहुल गांधी ने संकेत दिए थे कि जो भी दल भाजपा और शिवसेना के खिलाफ होगा, उन्हें साथ लेने में कांग्रेस को परहेज नहीं है। लेकिन जिस तरह महाराष्ट्र के प्रदेशाध्यक्ष चव्हाण इसका विरोध कर रहे हैं उससे मनसे के गठबंधन में शामिल होने में बाधा उत्पन्य हो सकती है।
चव्हाण ने यह भी कहा कि हमने सीपीआई, सीपीएम, राजू शेट्टी, कावडे, आरपीआई जैसे 7-8 दलों के साथ बातचीत की और संभाजी ब्रिगेड कांग्रेस का समर्थन करना चाहती जिससे इन सभी को साथ लेकर जब हम सीटों को विभाजन करते हैं, तो एनसीपी 4 सीटें देगी और हम 4 सीटें देंगे। सीट बटवारे को लेकर सभी घटक दलों को समान न्याय देने की कोशिश की जा रही हैं। पिछले चुनावों में 70 फीसदी वोट भाजपा-सेना के खिलाफ रहे हैं। बीजेपी-शिवसेना की सरकार केवल 30 प्रतिशत वोटों में आई है। चव्हाण ने कहा कि हमारी कोशिश है कि हम सभी समान विचारधारा वाले दलों को साथ लेकर चलें। राज्य में कांग्रेस गठबंधन के लिए माहौल बहुत अच्छा है।

Comments are closed.