आक्रोशित मुस्लिम समुदाय से भूदेव चौधरी को लग सकता है झटका


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-ज्यों-ज्यों चुनाव की तारीख नज़दीक आ रही है त्यों-त्यों मौसम के साथ चुनावी माहौल में तेज़ी के साथ बदलाव हो रहा है।जो कल तक महागठबंधन में थे वो आज एनडीए के पक्ष में दिखाई देते नजर आ रहे हैं।खासकर महागठबंधन के प्रत्याशी भूदेव चौधरी से मुस्लिम समुदाय के लोग अच्छे खासे नाराज चल रहे हैं।शायद जिसका खामियाजा भूदेव चौधरी को मतदान में शिकश्त खा कर न चुकाना पड़ जाए।बताते चलें कि 2019 लोकसभा चुनाव का बिगुल बजने व महागठबंधन की ओर से रालोसपा प्रत्याशी भूदेव चौधरी को टिकट मिलने के बाद से महागठबंधन में दरार व बिखरना शुरू हो गया था लेकिन कुछ ही दिनों में फिर महागठबंधन के कार्यकर्ता एकजुट होने लगे।सूत्रों की माने तो महागठबंधन का एक मजबूत अंग मुस्लिम समुदाय जो महागठबंधन के ही कार्यकर्ताओं व नेताओं द्वारा तथाकथित बयानबाज़ी से आक्रोशित हो उठे।अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों में भूदेव चौधरी के प्रति आक्रोश इतना बढ़ गया कि दो दिनों के अंदर एक समुदाय द्वारा जिले के अलग-अलग जगहों पर चार बड़े-बड़े बैठक किये गए हैं और बैठक में भूदेव चौधरी को लोकसभा चुनाव में सबक सिखाने की भी बात कही गई है।

सूत्रों की माने तो प्रत्याशी द्वारा मुस्लिम समुदाय के वोट को अपनी जागीर समझकर नज़र अंदाज़ किया जा रहा था जिसकी भनक शहर के कई वरीय नेता को लगी उसके बाद सैकड़ों की संख्यां में जमुई लोकसभा के 06 विधानसभा क्षेत्र से लोग इकट्ठे हुए और बैठक के दौरान महागठबंधन के प्रत्याशी भूदेव चौधरी को समर्थन देने से इनकार करने की बात हो रही थी कि अचानक भूदेव चौधरी का काफिला बैठक के दौरान पहुंचा।वहीं भूदेव चौधरी को देख सैकड़ों की भीड़ ने जमकर नारेबाजी करते हुए गो बैक होने को कहने लगे।आक्रोशित भीड़ से एक ही आवाज़ आ रही थी कि मुस्लिम किसी का गुलाम नहीं किसी की जागीर नहीं ऐसा सोंचने वालों को जल्द ही मुस्लिम समुदाय एकजुट होकर सबक सिखाएगी।

बताते चलें कि जमुई लोकसभा क्षेत्र में लगभग ढाई लाख मुस्लिम वोटर हैं।सभी प्रत्याशियों की नज़र मुस्लिम वोटर पर टिकी हुई है।बताया जाता है कि अगर मुस्लिम जिसे भी समर्थन करते हैं तो उसकी जीत 90%सुनिश्चित हो जाती है।फिलहाल मुस्लिम समुदाय के लोग आक्रोशित हैं अभी कुछ कहना मुश्किल है लेकिन महागठबंधन के प्रत्याशी भूदेव चौधरी के उदासीन रवैये से मुस्लिम समुदाय नाराज़ दिख रहे हैं।जिस वजह से अभी कुछ कह पाना मुश्किल है चुनाव के नतीजा के बाद ही मामला साफ होगा।लेकिन मुस्लिम समुदाय के नाराज होने से महागठबंधन की परेशानियां काफी बढ़ चुकी है।इससे साफ जाहिर हो रहा है कि भूदेव के लिए ये चुनावी संघर्ष चुनौतीयों से भरी है जिससे पार करना आसान नहीं है।

बताते चलें कि जमुई में प्रधानमंत्री,मुख्यमंत्री,गृह मंत्री से लेकर कई बड़े-बड़े दिग्गज नेता यहां आ चुके हैं जिस वजह से जमुई लोकसभा का सीट हॉट सीट बन चुका है।इस सीट पर कोई भी किसी के पक्ष में आकलन नहीं कर सकता।मौसम के बदलाव के साथ-साथ कभी एक पक्ष के उधर से इधर हो रहे हैं तो कभी दूसरे पक्ष के उधर से इधर हो रहे हैं।सभी अपनी-अपनी चुनावी दाव खेलने में मैदान में उतर चुके हैं।इतना ही नहीं आरोप और प्रत्यारोप का भी दौर जारी है।

Comments are closed.