नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान


राम नरेश ठाकुर, ब्यूरो
पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मधुबनी, दरभंगा, सीतामढ़ी, शिवहर और पूर्वी चंपारण इन इलाकों का हवाई सर्वे किया और उसके बाद विधानसभा में वक्तव्य दिया और कहा कि बिहार के खजाने पर पहला हक आपदा पीड़ितों का है। सरकार हर पीड़ित परिवार को छह हजार की मदद करेगी और ये मदद अब सीधे लाभुकों के खाते में जाएगी। लाभुकों को इसके लिए बैंक का चक्कर नही लगाना पड़ेगा और यह राशि खातों मेंडायरेक्ट ट्रांसफर की जाएगी।

नीतीश कुमार ने कहा कि पीड़ितों की मदद के लिए जो भी जरूरी कदम होंगे वो सब सरकार की ओर से उठाए जाएंगे और हर जिले में आपदा नियंत्रण कक्ष बनाया गया है। राज्य स्तर पर भी नियंत्रण कक्ष बनाया गया है, इसके अलावा मुख्यमंत्री कार्यालय, मुख्य सचिव ऑफिस, आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव के कार्यालय से मॉनिटरिंग की जा रही है. मुख्यमंत्री में कहा कि बाढ़ से कई जगहों की ठीक नहीं है, ये सब नेपाल में औसत से पांच से छह गुना ज्यादा बारिश होने की वजह से हुआ है। सबसे ज्यादा पानी कमला बलान में आया है, जिसमें 1987 के बाद सबसे ज्यादा पानी रिकॉर्ड किया गया है।

नीतीश ने कहा कि फसल की क्षति पर किसानों को कृषि इनपुट सब्सिडी दी जाएगी और इसके लिए भी पहल करने को कहा गया है। विपक्षी सदस्यों से मुखातिब होते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सब लोग मिलकर आपदा की इस घड़ी में पीड़ितों की मदद करें। अभी जुलाई में बाढ़ आई है, ये 2017 की तरह फ्लैश फ्लड है और आगे भी बाढ़ आ सकती है। अगस्त महीने में पता चलेगा, कई जिलों में सूखे की स्थिति है। उससे निपटने के लिए सरकार तैयार है।

Comments are closed.