बिहार विधान सभा के अध्यक्ष ने किया बाबा कोटेश्वर नाथ धाम महोत्सव का उद्घाटन

सौरभ कुमार की रिपोर्ट
गया: बाबा कोटेश्वर नाथ धाम महोत्सव 2019 का उद्घाटन दीप प्रज्वलन कर अध्यक्ष, बिहार विधान सभा,विजय कुमार चौधरी के कर कमलों से किया गया। इस अवसर पर बिहार के अध्यक्ष लोकायुक्त श्याम किशोर शर्मा, लोकायुक्त केसी साहा, जिलाधिकारी गया अभिषेक सिंह, जिलाधिकारी जहानाबाद नवीन कुमार, जिलाधिकारी अरवल रवि शंकर प्रसाद चौधरी, वरीय पुलिस अधीक्षक गया राजीव मिश्रा, सचिव बिहार विधानसभा बटेश्वर नाथ पांडेय, बिहार राज्य धार्मिक न्यास परिषद के पूर्व अध्यक्ष उपेन्द्र नारायण विद्यार्थी, उप विकास आयुक्त गया किशोरी चौधरी, उप विकास आयुक्त जहानाबाद,बेलागंज के पूर्व विधायक उपस्थित थे।

इसके पूर्व आगत अतिथियों को पुष्पगुच्छ, स्मृति चिह्न एवं शॉल प्रदान कर अनुमंडल पदाधिकारी सदर गया द्वारा हार्दिक स्वागत किया गया। इस अवसर पर स्वागत भाषण प्रस्तुत करते हुए जिलाधिकारी गया ने बाबा कोटेश्वर नाथ के महत्व बताते हुए कहा कि कहा कि बाबा कोटेश्वर नाथ न सिर्फ गया में बल्कि पूरे देश में प्रसिद्ध है। उन्होंने कहा कि सरकार एवं प्रशासन का प्रयास है कि इस क्षेत्र का पूर्ण विकास हो सके। उन्होंने कहा कि मंदिर की घेराबंदी एवं पर्यटन के अन्य सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए हम प्रयासरत हैं। उन्होंने कहा कि यहाँ एक अतिथि गृह निर्माण के लिए राशि प्राप्त हो चुकी है और इसके लिए सतत लीज पर जो भूमि लेनी है उसके लिए भी राशि प्राप्त हो चुकी है। शीघ्र ही इस पर कार्य प्रारंभ हो जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की तरफ से प्रयास किये जा रहे हैं कि सभी पहुंच पथ का निर्माण कराया जाए तथा मुख्यमंत्री सात निश्चय के योजनाओं का शत-प्रतिशत क्रियान्वयन किया जाए। उन्होंने कहा कि स्थानीय रेलवे स्टेशन के नाम परिवर्तन के लिए कार्रवाई की जा चुकी है। यह गर्व की बात है कि हमारे क्षेत्र में बाबा कोटेश्वर नाथ धाम अवस्थित है। लोकायुक्त, श्याम किशोर शर्मा ने क्षेत्र की महिमा का व्याख्यान करते हुए मेन ग्राम को प्रखंड कार्यालय बनाने की मांग की। मुख्य अतिथि सह विधानसभा अध्यक्ष, विजय कुमार चौधरी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि यह देवों का देव महादेव का धाम है और आज उनका विवाह का वर्षगांठ मनाया जा रहा है। आज महादेव विशेष प्रसन्न मुद्रा में बैठे हैं। आज के दिन जो मनोकामना सच्चे दिल से की जाती है वह निश्चित रूप से पूरी होती है। महादेव सीधे, सरल एवं आडंबर रहित है। न कोई स्वर्ण आभूषण, न कोई वस्त्र धारण करते हैं और सबसे ठंडा प्रदेश कैलाश में केवल भस्म लगाकर और मृगछाल पहन कर रहते हैं। उनके परिवार के सवारीगण एक दूसरे के साथ मिलकर रहते हैं जबकि प्रकृति से वे एक दूसरे के भक्षक हैं। जैसे सिंह बैल को मार देता है, सर्प चूहा को खा जाता है, मयूर सर्प को खा जाता है, लेकिन बाबा के परिवार में सब एक साथ मिलकर रहते हैं। उन्होंने कहा कि इस महोत्सव का उद्देश्य समाज में समरसता कायम करना है और लोकायुक्त महोदय ने बताया कि इस गांव के लोग एक दूसरे पर केस मुकदमा करने में माहिर है। इस महोत्सव का उद्देश्य आपस में मिल जुल कर रहना है। महादेव के प्रख्यात स्थल के लोगों में महादेव की तरह धैर्य और सहन शक्ति होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भगवान शंकर के प्रसिद्ध स्थल पर उनका उपस्थित होना सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2013 में माननीय मुख्यमंत्री के साथ ही यहां भ्रमण करने आए थे। उस समय यह क्षेत्र काफी पिछड़ा था, सड़क जर्जर थी लेकिन आज इस क्षेत्र का काफी विकास हो गया है, सड़के भी बन चुकी है। उन्होंने कहा कि हम धार्मिक आयोजन करते हैं तो इसके संदेश अध्यात्मिकता, सामाजिकता और समरसता का संदेश भी आत्मसात करना है। दूसरों को मदद करना ही सबसे बड़ा धर्म कहलाता है। उन्होंने सफल महोत्सव आयोजन करने के लिए जिला प्रशासन गया एवं पर्यटन विभाग को प्रशंसा की। इसके पूर्व उन्हें गार्ड ऑफ आनर दिया गया साथ ही उन्होंने बाबा कोटेश्वर नाथ मंदिर में पूजा अर्चना की एवं प्रसाद ग्रहण किया। कार्यक्रम में बेलागंज के पूर्व विधायक, स्थानीय मुखिया, जिला स्तरीय पदाधिकारी गण, अनुमंडल पदाधिकारी सदर एवं पुलिस पदाधिकारी गण उपस्थित थे।

Comments are closed.