बिहार राज्य जनवादी बीड़ी मज़दूर यूनियन ने दिया एक दिवसीय धरना

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई। गुरुवार को बिहार राज्य जनवादी बीड़ी मज़दूर यूनियन,एक्टू के जिला इकाई द्वारा मांगों के समर्थन में जिला समाहरणालय के समक्ष एक दिवस धरना दिया गया।धरना की अध्यक्षता जिला संयोजक बासुदेव राय ने किया।मौके बिहार राज्य जनवादी बीड़ी मज़दूर यूनियन के महासचिव मसूदन राय ने कहा कि सरकार बीड़ी मजदूरों के लिए गजट में असाधारण अंक प्रकाशित किया गया।उन्होंने कहा कि श्रम संसाधन विभाग द्वारा मजदूरों को न्यूनतम मजदूरी एक हज़ार बीड़ी बनाने के लिए 249 रुपया लागू किया गया।लेकिन बीड़ी मजदूरों को बीड़ी कंपनी द्वारा सिर्फ 80 से 90 रुपया दिया जाता है।

वहीं भाकपा माले के जिला सचिव शम्भू शरण सिंह ने कहा कि मोदी सरकार गरीब मजदूरों को धोखा दे रही है।न्यूनतम मजदूरी लागू नहीं कर के वहीं दिखावा के लिए पेंशन योजना लागू किया गया।पीएफ फंड में पैसा जमा था उसे लाखों करोड़ों रुपया अडानी को दिया गया।वहीं दूसरी ओर सरकार द्वारा गरीबों को निबंधन कराने के लिए पैसा जमा कराने की बात कही जा रही है।18 वर्ष से 60 वर्ष तक पैसा जमा किया जाएगा तब सरकार द्वारा 3हज़ार रुपए प्रति माह पेंशन दिया जाएगा।वहीं एक्टू के जिला संयोजक वासुदेव राय ने कहा कि कुछ महीने पहले जिलाधिकारी और श्रमअधीक्षक के उपस्थिति में बीड़ी कम्पनी और बीड़ी मज़दूर यूनियन के साथ वार्ता हुई जिसमें एक हज़ार बीड़ी बनाने का 110 रुपया तय हुआ था लेकिन आज तक लागू नहीं किया गया।वहीं मौके पर आइसा के प्रदेश उपाध्यक्ष बाबू साहब ने भी सरकार के विरोध में जमकर अपनी भड़ास निकाली और कहा कि सरकार बीड़ी मज़दूर को उसकी सही मजदूरी भी नहीं दे रही है।सरकार अपनी मनमानी कर गरीब बीड़ी मज़दूर का हक़ मार रही है।मौके पर आइसा के प्रदेश उपाध्यक्ष बाबू साहब,कंचनी देवी,कौशल्या देवी,सावित्री देवी,बबिता देवी,निशा देवी,प्रमिला देवी,लालवती देवी सहित दर्जनों बीड़ी मज़दूर महिलाएं धरना में शामिल थी

Comments are closed.