भाजपा पूरे देश में गाजे-बाजे के साथ मना रहे हैं जश्न


ऋषी तिवारी
नयी दिल्ली। लोकसभा चुनाव के देश में भाजपा अपने दम पर जीत का आंकड़ा पार कर लिया है। चुनाव  में मतों की गिनती आज सुबह आठ बजे से शुरू हो गई है। भारतीय जनता पार्टी रुझानों में सत्ता पर दोबारा काबिज होते दिख रही है। जारी मतगणना के बीच भाजपा उम्मीदवार 542 लोकसभा सीटों में से 300 सीटों पर आगे चल रहे हैं। उत्तर प्रदेश सहित लगभग सभी हिंदी भाषी हिस्सों से भाजपा के लिए अच्छी खबर यह है जहां सपा-बसपा गठबंधन के जीत की राह पर जाने की उम्मीद थी, और पड़ोसी राज्य बिहार से भी उसके लिए अच्छी खबर है जहां भाजपा ने जनता दल-यूनाइटेड (जेडीयू) के साथ गठबंधन किया है। भाजपा की स्मृति ईरानी अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से आगे चल रही हैं। हालांकि, राहुल केरल में वायनाड में अपने वामपंथी प्रतिद्वंद्वी से बहुत आगे चल रहे हैं।

यूपी में में बड़ी बढ़त
उत्तर प्रदेश में बीजेपी 63 सीटों पर आगे है, वहीं समाजवादी पार्टी (एसपी)-बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) गठबंधन को सिर्फ 16 सीटों पर बढ़त मिलती दिख रही है। 2014 में बीजेपी ने सूबे की 71 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की थी। एसपी-बीएसपी और आरएलडी गठबंधन की वजह से बीजेपी को यहां कुछ सीटों का नुकसान झेलना पड़ा है।

बंगाल में बड़ी बढ़त
पश्चिम बंगाल में बीजेपी को बड़ी सफलता मिली है। यहां 19 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, जबकि 2014 में केवल 2 सीटों पर कमल खिला था। पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 22 सीटों पर आगे है, जबकि कांग्रेस एक सीट पर बढ़त बनाए हुए है और राज्य पर दशकों तक राज करने वाले वाम को किसी भी सीट पर बढ़त नहीं मिली है।

ओडिशा में बीजेपी की बहार
ओडिशा की 21 लोकसभा सीटों में से बीजेपी छह सीटों पर जबकि बीजू जनता दल 15 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। 2014 में बीजेडी ने 20 सीटें जीती थीं, जबकि बीजेपी ने एक पर जीत दर्ज की थी।

कर्नाटक में बीजेपी की बहार
लोकसभा चुनाव की गुरुवार को हो रही मतगणना में कर्नाटक में बीजेपी 21 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, जबकि कांग्रेस और जनता दल-सेकुलर (जेडीएस ) दो-दो सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं। 2014 में बीजेपी को यहां 17 सीटों पर जीत मिली थी।

बिहार में बीजेपी की बहार
बिहार में एक बार फिर पार्टी ने विपक्ष का सूपड़ा साफ कर दिया है। बीजेपी, जेडीयू, एलजेपी गठबंधन 37 सीटों पर आगे है, जबकि आरजेडी, कांग्रेस, आरएलएसपी, हम गठबंधन 3 सीटों पर ही बढ़त बनाए हुए है। 2014 में बीजेपी ने यहां कुल 40 सीटों में से 22 पर कब्जा जमाया था। इस पार पार्टी यहां 17 सीटों पर चुनाव लड़ रही थी और लगभग सभी सीटों पर जीत की ओर बढ़ रही है।

महाराष्ट्र में भी मारी बाजी
महाराष्ट्र में फिर बीजेपी-शिवसेना गठबंधन ने कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को ध्वस्त कर दिया है। बीजेपी फिर यहां कुल 48 सीटों में से 23 पर जीत हासिल करती दिख रही है। 2014 में भी उसने इतनी ही सीटें जीती थी। जबकि शिवसेना 18 से 19 हो सकती है।

गुजरात फिर मोदी के साथ
मोदी के गृहराज्य में बीजेपी 2014 के अपने प्रदर्शन को दोहराती हुई दिख रही है जब उसने सभी 26 सीटें जीती थी।

हिमाचल के पहाड़ों पर कमल ही कमल
हिमाचल प्रदेश में बीजेपी राज्य की सभी चारों लोकसभा सीटों को जीतने जा रही है। उसके उम्मीदवार मतगणना के रुझानों के अनुसार अपने प्रतिद्वंद्वियों से आगे चल रहे हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने चारों सीटें जीती थी।

उत्तराखंड की पांचों सीटों पर कब्जा
बीजेपी के उम्मीदवार रुझानों में राज्य की सभी पांचों सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं। बीजेपी सभी पांचों सीटों पर कांग्रेस के मुकाबले 60,000 से 1 लाख 25 हजार वोटों तक की बढ़त बनाए हुए हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में भी बीजेपी ने यहां कांग्रेस का सूपड़ा साफ कर दिया था।

तेलंगाना में चौका
उत्तर भारत के साथ दक्षिण के कुछ हिस्सों में भी बीजेपी ने अच्छा प्रदर्शन किया है। तेलंगाना में भी बीजेपी चार सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

मध्य प्रदेश में जलवा
मध्य प्रदेश में बीजेपी 29 में से 28 लोकसभा सीटों पर आगे चल रही है। राजस्थान में एनडीए सभी 25 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। छत्तीसगढ़ में भी बीजेपी 10 सीटों पर आगे है, जबकि कांग्रेस 1 सीट पर बढ़त बनाए हुए है।

दिल्ली की सातों सीटों पर कब्जा
राजधानी दिल्ली में एक बार फिर सातों लोकसभा सीटें बीजेपी के खाते में जा रही है, आम आदमी पार्टी और कांग्रेस यहां खाता नहीं खोल पाई है।

Comments are closed.