बजट 2019 : हमने बेहतर भारत बनाने की कोशिश की है :- व‍ित्‍त मंत्री न‍िर्मला सीतारमण


ऋषी तिवारी
नई दिल्ली। व‍ित्‍त मंत्री न‍िर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार 2.0 का पहला बजट पेश कर द‍िया है। वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लगभग दो घंटे 10 मिनट तक बजट भाषण पढ़ा है और इस भाषण में कई बड़े एलान किए गए हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संवाददाताओं से बातचीत की और इस दौरान उन्होंने कहा कि ग्रामीण इलाके के लिए बजट में खास ध्यान रखा गया है। शहरी इलाकों के लिए भी बजट में की योजनाओं की घोषणा की गई है और सभी को एक साथ लाए जाने का जिक्र करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि हमने बजट के जरिए एक बेहतर भारत बनाने की कोशिश की है। बजट में 5 साल का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

400 करोड़ वाली कंपनी पर 25 फीसदी टैक्स
इस बजट में ऐलान किया गया है कि 400 करोड़ टर्नओवर वाली कंपनी पर 25 फीसदी टैक्स लगाया जाएगा। पहले 250 करोड़ टर्नओवर वाली कंपनी पर 25 फैसदी टैक्स था।

घर खरीदने में साढ़े तीन लाख की छूट
45 लाख के घर खरीदने पर साढ़े तीन लाख रुपये की छूट का ऐलान किया गया है। पहले 2 लाख रुपये तक की छूट थी लेकिन इस बात इसमें डेढ़ लाख रुपये बढ़ाया गया है। इस बजट में 2 से 7 करोड़ टैक्सेबल इनकम पर टैक्स बढ़ा। 3 से अब 7 फीसदी ज्यादा टैक्स देना पड़ेगा। इसके साथ ही, डिजिटल पेमेंट में छूट का ऐलान किया गया है। जबकि, एक बैंक अकाउंट से एक साल में एक करोड़ से ज्यादा की निकासी पर 2 फीसदी टीडीएस लगेगा। यानि, 1 करोड़ रुपये पर टीडीएस के तौर पर 2 लाख रुपये देना होगा।

इलैक्ट्रिक वाहनों की खरीद पर डेढ़ लाख की छूट
देश में इलैक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए सरकार का प्रयास लगातार जारी है। 2019 के बजट में इलैक्ट्रिक वाहनों के इस्तेमाल पर जोर दिया गया। केन्द्रीय वित्त बजट में यह ऐलान किया गया कि इलैक्ट्रिक वाहनों पर लोन लेने पर डेढ़ लाख रुपये का छूट दिया जाएगा। यह छूट लोन पर दिए जानेवाले ब्याज में दिया जाएगा। इसके साथ ही, इलैक्ट्रिक वाहनों पर सिर्फ पांच फीसदी जीएसटी लगाई जाएगी।

अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन पहुंचाने का लक्ष्य
निर्मला ने कहा कि 55 साल लगे 1 ट्रिलियन तक जाने में। उन्होंने कहा कि विश्वास और विकास से आगे बढ़ पाए। केन्द्रीय वित्तमंत्री ने आगे कहा कि इसी साल 3 ट्रिलियन डॉलर हो जाएगी अर्थव्यवस्था। केन्द्रीय वित्त मंत्री ने कहा कि जल, जल प्रबंधन, साफ नदियों पर जोर दिया जाएगा। हम दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। उन्होंने कहा कि हमें इंफ्रस्ट्रक्चर पर जोर देना होगा।

रेलवे को 50 लाख करोड़
रेलवे को पचास लाख करोड़ रुपये इस बजट में देने की घोषणा की गई है। इसके साथ ही, रेलवे को पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मॉडल की तर्ज पर आगे डेवलप किया जाएगा।

Comments are closed.