दिल्ली परिवहन निगम के बस और अधिकारी सुबह से शाम तक के राजा


ऋषी तिवारी
नई दिल्ली | दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) के ग्रीन बस राजा है जब मन करे रोके, जब जब मन करे कही भी खाड़ी कर दे, दिन में या रात में जैसे चाहे ले जाये बस स्टैंड होते हुवे भी स्टैंड पर न रोके, इनके रिस्तेदार या अधिकारी हो तो ट्रैफिक सिग्नल पर रोक देंगे। अधिकारी जहा चाहे बस रोककर चेकिंग करने के बहाने आधे घंटे या एक घंटे लगा देना। ये मनमानी नहीं तो क्या ?

गौरतलब है कि डीटीसी बस स्टैंड पर बहोत ही कम रोकी जाती चाहे बस खाली क्यों न हो और बस चेकिंग के बहाने कही भी रोक देना ये कैसा नियम है देखा जय तो स्टैंड पर उतरने पर चेकिंग की जाती है बस में चढ़कर चलते बस में चेकिंग की जाती है लेकिन दिल्ली बसों में नहीं किया जाता है। ये सिग्नल या कही भी रूकाकर एक घंटा लगा देते है जो बाद में सिग्नल और किसी का बहाना कर दिया जाता है।

दिल्ली की बसों में टिकट कटाने कंडेक्टर फ़ोन पर बात करते रहेंगे या कुछ गलती करने पर जनता से लड़ाई करेंगे कुछ होता है मौजूद गाड भी देखता रहते है लेकिन उनका ही साथ देते है। बस ड्राइवर चलती बस में जोरो से गाने बजाते रहते है। बस में गाड भी इनकी मददर करते गालिया कितनी भी बस में ड्राइवर,कंडेक्टर और गाड की सहयाता से आम जनता को ही फसाया जाता है । दिन रात ये हरकते कितने विडिओ वॉयरल हुई है लेकिन इस पर हमारी सरकार आज तक कोई कारवाही नहीं किये ना कर रही है।

Comments are closed.