सहकारी बैंक घोटाले में पूर्व डिप्टी सीएम अजित पवार समेत 70 के खिलाफ केस


आर.पी.मौर्या संवाददता
मुंबई। मुंबई पुलिस ने महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक घोटाला मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट के निर्देशों पर सोमवार को एनसीपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार समेत 70 लोंगो के खिलाफ मामला दर्ज किया है। मामले में पुलिस ने अजीत पवार के अलावा विजय सिंह मोहिते पाटील, आनंदराव अडसूल, शिवाजी नलावडे समेत बैंकों के तत्कालीन संचालकों, अधिकारियों के खिलाफ धारा 420, 409, 406, 465, 467, 468, 34, 120 (बी) के साथ भ्रष्टाचार निरोधक कानून की संबंधित धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज कर लिया है। आरोप है कि सहकारी बैंकों में संचालकों के पदों पर बैठे इन नेताओं ने नियमों को ताक पर रखकर मनमाने तरीके से करीबियों को कर्ज बांट दिए थे। कर्ज की वसूली नहीं हो सकी तो बैंक डूबने लगे। इसके बाद रिजर्व बैंक ने राज्य सहकारी मंडल बर्खास्त कर जांच के आदेश दिए।

बता दे कि घोटाले के संबंध में की गई शिकायत में राकांपा नेता अजित पवार के अलावा राकांपा के हसन मुश्रीफ व कांग्रेस नेता मुधकर चव्हाण के अलावा बैंक के अलग-अलग जिलों में खुली बैंक की शाखों के वरिष्ठ अधिकारियों का समावेश है। ये सभी नेता इस बैंक के संचालक रह चुके है। शिकायत में दावा किया गया है कि 2007 से 2011 के बीच बैंक को करीब एक हजार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। मामले को लेकर नाबार्ड व महाराष्ट्र सहकारिता विभाग की ओर से मामले को लेकर दायर की गई रिपोर्ट में बैंक को हुए नुकसान के लिए राकांपा नेता अजित पवार व बैंक के दूसरे निदेशकों को जिम्मेदार ठहराया है।

Comments are closed.