जिले के निजी अस्पताल पर सिकंजा कसने पर निर्णय लिया गया


रमेश शंकर झा,समस्तीपुर बिहार
समस्तीपुर। जिले के विकास भवन के सभागार में लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण एवं ग्रामीण स्वच्छता समिति जिला परिषद की एक बैठक समिति के अध्यक्ष रामदेव राय की अध्यक्षता में तथा सिविल सर्जन डॉ० सिया राम मिश्र के संचालन में आयोजित कीया गया। वही बैठक में उपस्थित सदस्यों एवं अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए अध्यक्ष राम देव राय ने कहा कि मानव मूल्यों को देखते हुए जिले के अस्पतालों में चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ किया जाय।

उन्होंने मष्तिष्क ज्वर, जैपनीज़ इंसेफेलाइटिस आदि पर चर्चा करते हुए कहा कि जिले के सभी अस्पतालों में आवश्यक दवा, ट्रेंड चिकित्सक एवं नर्स की व्यवस्था सुनिश्चित किया जाय, साथ ही कहा कि जनाकांक्षाओं पर खड़ा नही उतरने वाले एवं सरकार के द्वारा निर्धारित मानकों को पूरा नहीं करने वाले गैर निवन्धित निजी अस्पताल एवं जांच घरों पर ठोस कार्रवाई कीया जाय। एक चिकित्सक द्वारा कई नर्सिंग होम में अपना बोर्ड लगाने पर कड़ी आपत्ति जताई और कहा कि ऐसे चिकित्सक के कार्य पद्धत्ति की जांच कर कार्रवाई करे।

वही सिविल सर्जन डॉ० सिया राम मिश्र ने सदन को अवगत कराया कि जिले में पर्याप्त मात्रा में दवा उपलब्ध है। अगर किसी अस्पताल में दवा नही हो तो इंडेंट दें, उन्हें तुरंत दवा आपूर्ति की जाएगी। जे ई एवं ऐ ई एस जैसे बिमारी के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि ऐसे रोगी को प्रथम उपचार में सावधानी बरतने की जरूरत है। कही भी ऐसे रोगी चिन्हित हो तो तुरंत ग्लूकोज एवं पैरासिटामोल देकर सघन चिकित्सा व्यवस्था में उन्हें भर्ती करायें। इसके लिए जिले में ट्रेंड चिकित्सक, नर्स, वार्ड,एम्बुलेंस सभी उपलब्ध है। वहीँ जिलापार्षद स्वर्णिमा सिंह ने अनुपस्थित पी एच डी एवं खाद्यसुरक्षा के अधिकारियों पर स्पष्टीकरण करने की मांग कीया है। साथ ही उन्होंने कहा कि समिति के बैठक में संबंधित अधिकारियों का नही आना जहाँ एक ओर उच्चाधिकारियों के आदेश का अनुपालन नही करना है। दूसरी ओर बिहार पंचायत राज्य अधिनियम 2006 की धारा 46(14)एवं 72(11) द्वारा किये गए प्रावधान की अवहेलना है। बिहार सरकार पंचायत राज्य विभाग के पत्रांक 4186 दिनांक 09 07 2013 में दिए गए निर्देश का उल्लंघन है। अतः ऐसे अधिकारी के विरुद्ध सरकार को लिखा जाय। जिलापार्षद हरेराम सहनी ने पूर्व में लिए गए प्रस्ताव का अनुपालन नही होने पर खेद प्रकट करते हुए कहा कि इससे संबंधित लोकसेवकों का मनोबल बढेगा और जंकल्याणार्थ चलाए जा रहे योजना प्रभावित होगा।

बैठक में नॉन कम्युनिकेबल डिजीज के डॉ० शिवनाथ शरण ने सदन को डायबिटीज, ब्लडप्रेसर एवं कैंसर से संबंधित जानकारी देते हुए कहा कि सदर अस्पताल में भी कैंसर का इलाज शुरू हो गया है। इसके लिए जिले के चिकित्सकों एवं नर्सों को भी ट्रेंड किया गया है तथा बाहर से डॉ० प्रेम भास्कर भी सप्ताह में सदर अस्पताल में आते हैं। बैठक में जिलापार्षद स्वर्णिमा सिंह, हरे राम सहनी, आशिफ हरि शिद्धकी, प्रतेयक्षण प्रभारी डॉ० सतीश कुमार सिन्हा, डॉ० जवाहर प्रसाद सिंह, ड्रग इंस्पेक्टर शम्भू नाथ ठाकुर, सुधीर कुमार मिश्र, देव नारायण सिंह इत्यादि लोग उपस्थित थे।

Comments are closed.