जिलाधिकारी ने बच्चों को विटामिन’ए की खुराक पिलाकर अभियान का किया शुभारंभ


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-सदर अस्पताल परिसर में बुधवार को जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार द्वारा बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाकर छः माही सघन खुराक अभियान की शुरुआत की।इस अवसर पर डीएम धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि विटामिन ए हर बच्चों के लिए ज़रूरी है।इससे कई बीमारियों का बचाव होता है।आगे उन्होंने कहा कि जिले में एक भी बच्चा विटामिन ए की खुराक पीने से छूटना नहीं चाहिए।जिस तरह जिस तरह सरकार द्वारा चलाये जा रहे सभी टीकाकरण के लक्ष्य को पूरा किया जा रहा है इसी तरह इस अभियान के लक्ष्य को भी ईमानदारी के साथ सभी कर्मी निर्वाहन करें।मौके पर सिविल सर्जन डा. श्याम मोहन दास ने बताया कि यह अभियान 20 जुलाई तक चलेगा।जिले के 2 लाख 94 हजार 667 बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाने का लक्ष्य रखा गया है।जिसमें 9 माह से लेकर 5 वर्ष तक बच्चों को विटामिन ए की खुराक दी जाएगी। बुधवार को पहले दिन आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों को विटामिन ए का खुराक दिया जाएगा जबकि दूसरे दिन घर-घर जाकर आशा कार्यकर्ता और आंगनबाड़ी सेविका और सहायिका विटामिन ए की खुराक पिलाएगी।साथ ही तीसरे दिन फिर से आंगनबाड़ी और चौथे दिन घर-घर जाकर बच्चों को विटामिन ए की खुराक दी जाएगी।इस अवसर पर सदर अस्पताल उपाधीक्षक डा. सैयद नौशाद अहमद, वरीय चिकित्सक डा. अंजनी कुमार सिन्हा, डीपीएम सुधांशु नारायण लाल, केयर इंडिया के संजय कुमार, मो. शमीम अख्तर, मेराज जिया, गोविन्द कुमार, आशुतोष कुमार, कुमार पंकज, पंकज कुमार सहित काफी संख्या में स्वास्थ्य कर्मी और आशा कार्यकर्ता मौजूद थी।

इन फल और सब्जी में पाए जाते हैं विटामिन ए
डीएम धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि विटामिन ए के अच्छे स्त्रोत है गाजर,चुकंदर,शलजम, शकरकंद, मटर, टमाटर, ब्रोकली, कद्दू, साबुत अनाज, हरी पत्तेदार सब्जियां,धनिया, गिरीदार फल,पीले या नारंगी रंग के फल,आम,तरबूज, पपीता,चीकू,पनीर,सरसों, राजमा,बींस,अंडा आदि लेने से उचित मात्रा में विटामिन ए पाया जाता है।

विटामिन ए से होने वाले फायदे
सिविल सर्जन डॉ. श्याम मोहन दास ने बताया कि स्वस्थ शरीर के लिए विटामिन बहुत जरूरी होता है। विटामिन ए के उपयोग से हमारी आंखों की रौशनी तेज होती है और आंखों की मांसपेशियां भी मजबूत बनती हैं।यह आंखो के रेटिना में रंग उत्पन्न करता है। विटामिन ए एक एंटी ऑक्सीडेंट है।एंटी ऑक्सीडेट्स शरीर की कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्स के हानिकारक प्रभावों से बचाने का काम करता है।विटामिन ए हृदय रोगों,अथवा डायबिटीज और कई अन्य रोगों में भी लाभदायक है।इसलिए हमें रोजाना विटामिन ए युक्त आहार का सेवन करना चाहिए।विटामिन ए युक्त आहार के सेवन से हमारा शरीर और त्वचा स्वस्थ और जवान बनी रहती है।

अधिक मात्रा में विटामिन ए लेने से हो सकता नुकसान
अत्याधिक विटामिन ए की मात्रा लेना हानिकारक हो सकता है। सिरदर्द, दस्त, बाल गिरना, देखने में दिक्कत, थकावट, स्किन खराब हो जाना, हड्डी और जोड़ों में दर्द, हृदय को नुकसान पहुंचाना और लड़कियो में असमय मासिक धर्म जैसे समस्या हो सकती है। गर्भवती महिला में गर्भ के दौरान अत्याधिक विटामिन ए की मात्रा लेने से पेट में पलते बच्चे को नुकसान हो सकता है।

विटामिन ए की कमी से नुकशान
विटामिन ए हमारे शरीर की त्वचा, बाल, नाखूनों आदि के लिए लाभदायक होता है। विटामिन ए की कमी से कमजोर दांत, थकान, रूखे बाल, रूखी त्वचा, साइनस, बार-बार दस्त होना, निमोनिया, सर्दी-जुकाम, वजन घटना, नींद ना आना आदि नुकसान होता है।

Comments are closed.