नप ने बनाया सदर अस्पताल में डम्प यार्ड


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-स्वच्छता का पाठ पढ़ाने वाला सदर अस्पताल को ही नगर परिषद ने गंदगियों का भंडार बना दिया है।अस्पताल के साफ-सफाई के बाद कूड़े-कचड़े को उठाने के बजाय नप ने अस्पताल परिसर में ही डंप यार्ड बना डाला है।सदर अस्पताल में कूड़े का अंबार लगाकर उसे अस्पताल परिसर में ही जलाया जा रहा है जिस कारण मरीजों को परेशानीयों का सामना करना पड़ रहा है।इससे मरीज व साथ आये परिजन भी प्रभावित हो रहे हैं।गंभीर बीमारीयों की चपेट में आ सकते हैं।महीनों नहीं बल्कि वर्षों से पूरे अस्पताल के कूड़े को सदर परिसर में ही इकट्ठा करके जला दिया जाता है लेकिन जलाने वालों को शायद यह पता नहीं कि केमिकल युक्त प्लास्टिक और कागज़ जलाने के बाद लोगों के स्वास्थ्य पर इसका किया असर पड़ेगा।कचड़ा जलाने के बाद इससे उठने वाली धुआं और गैस मनुष्य के स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव डालेगी ये स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को पता होने के बावजूद अनदेखा करते हैं तो इस बेचारे सफाई कर्मी की क्या गुनाह ये तो हुक्म की तामीर करने में लगे हैं।हालांकि अस्पताल परिसर में लगे कचड़े की ढेर के समीप एक कमरे में रह रहे पीएचडी विभाग के कर्मी भी काफी परेशान हैं।उन्होंने बताया कि कई बार कचड़ा उठाने को लेकर बोला जा चुका है लेकिन कचड़े का अम्बार ज्यों का त्यों बना हुआ है।नगर परिषद की जब मर्ज़ी होती है तब आधा-अधूरा कचड़े को उठाकर खानापूर्ति कर लिया जाता है।वो भी कई महीनों के बाद ही सफाई कर्मी कचड़ा उठाते नज़र आते हैं।आगे उन्होंने बताया कि लगभग एक वर्ष बाद नप के सफाई कर्मी रविवार को वाहन के साथ दस्तक दिया लेकिन महज़ कुछ ही कूड़े-कचड़े को उठाकर चलते बने।

कई प्रकार की बीमारियों के घेरे में आ सकते हैं मनुष्य
जमे कचड़े व भोज्य पदार्थ के सड़ने गलने की से मीथेन गैस उत्पन्न होता है।जो अपने घनत्व से दो गुना अधिक मात्रा में ऑक्सीजन को प्रदूषित कर किटाणुयुक्त और बदबूदार बना देता है।जिससे वायु प्रदूषण के साथ-साथ मनुष्य के गुर्दे यकृत पर बुरा प्रभाव पड़ता है।सांस रोग और हृदय रोग की समस्या उत्पन्न हो जाती है।साथ ही मनुष्य कई गंभीर बीमारियों से ग्रसित हो सकते हैं।वहीं कूड़े के विनिष्टिकरण से उठने वाली धुंआ से एलर्जी,दम्मा,सांस की बीमारी,आंख में जलन आदि जैसे कई घातक बीमारी के घेरे में मनुष्य आ सकता है।

कहते हैं सिविल सर्जन
सिविल सर्जन डॉ.श्याम मोहनदास ने बताया कि कूड़ा उठाने के लिए नगर परिषद को सूचना दी गई है।जल्द ही साफ सफाई करवा दी जाएगी।

कहते हैं नप पदाधिकारी
नप पदाधिकारी डॉ. जनार्दन प्रसाद वर्मा ने बताया कि कचड़ा उठाने वाली वाहन हमेशा सदर अस्पताल की ओर जाती है।अगर कचड़े का ढेर लगा हुआ है तो उसे जल्द ही उठा लिया जाएगा।कचड़े को उठाने के लिए वाहन भेजी गई है।

Comments are closed.