जानलेवा हमला मामला में पिता व दो पुत्रों को तीन वर्ष कारावास

अमानुल हक की रिपोर्ट
बेतिया: घर बनवाने के क्रम में हुए विवाद में गोली चला जख्मी करने के एक मामले में अदालत ने पिता समेत उसके दो पुत्रों को तीन-तीन वर्ष कारावास की सजा सुनायी। साथ ही प्रत्येक को दो-दो हजार रुपया अर्थदंड भी लगाया है।

सजायाफ्ता सिकटा थाना क्षेत्र के लाल परसा निवासी पिता-गणेश साह तथा उनके पुत्र अशोक साह व अनिल साह हैं। एफटीसी न्यायाधीश ओम प्रकाश ने अभियुक्तों को भा.द.वि की धारा 324 तथा 27 आर्म्स एक्ट में दोषी पाते हुए सजा सुनायी है। एपीपी चन्द्रशेखर प्रसाद ने बताया कि 12 अप्रैल 2006 को अभियुक्तगण हथियार से लैश होकर वादी रेयाजुल हक के घर के बगल में अपना घर बनवा रहे थे। अभियुक्तों द्वारा अपने घर का रोख वादी के घर के तरफ किये जाने पर विरोध जता रहे भाई एजाजुल हक को अभियुक्तों ने राइफल से फायर कर जख्मी कर दिया। बचाने गये वादी रेयाजुल हक तथा उसकी पत्नी शहाबुन नेशा को भी अभियुक्तों ने गोली मार जख्मी कर दिया था। मामले को लेकर सिकटा थाने में एफआईआर दर्ज करायी गयी थी।

Comments are closed.