पिता ने की अपने इकलौते पुत्र की निर्मम हत्या


रमेश शंकर झा, समस्तीपुर बिहार।
समस्तीपुर/चकमेहसी:- जिले के चकमेहसी थाना क्षेत्र के नामापुर खेड़ी वार्ड संख्या 13 में मंगलवार की रात्रि में एक कलयुगी पिता ने अपने ही कलेजे के टुकड़े इकलौते पुत्र के सिर पर लोहे के हथौरा से वार कर सिर फोर कर हत्या कर दीया। हत्यारा पिता को स्थानीय पुलिस ने हिरासत में ले लीया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रामदेव ठाकुर के 10 वर्षिय पौत्र मोनू ठाकुर उर्फ कल्लू कुमार अपने दादी सीता देवी के साथ घर में सोया हुआ था।

इसी क्रम में लगभग 2-30 बजे रात्रि में पिता राजू ठाकुर उम्र 32 वर्ष ने लोहे के हथौरा से अपने ही पुत्र के सिर पर वार कर सिर को (फोर) चकनाचूर कर हत्या कर दिया। जिसको मौके पर ही मौत हो गई। वहीँ कराहने की आवाज सुनकर दादी की नींद खुल गया, तो देखा अपने पोते की सिर, कान और नाक से खून बहता देखकर बेहोश हो गई। कुछ देर बाद हत्यारा अपने पुत्र को खोजने लगी। दादी की आवाज सुनकर पड़ोसी लोग की नींद खुल गई, तो देखा एक बच्चा खून से लथपथ मरा हुआ है।

जिसकी सूचना तक्षण स्थानीय थाना पुलिस को दी गई। मौके पर चकमेहसी थाना अध्यक्ष मोहम्मद खुशउद्दीन दलबल के साथ पहुंच कर हत्या आरोपी पिता राजू ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया। और पुलिस शव को अपने कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल समस्तीपुर भेज दिया। इस घटना से क्षेत्र के लोगो में शर्मसार है। कई घरों में आज चूल्हा तक नहीं जलाया गया है, मासूम बच्चे को निर्मम हत्या को लेकर। वहीँ ग्रामीणों ने हत्यारोपी पिता को फांसी की सजा देने से लेकर जिला प्रशासन से अनुनय विनय किया है। ग्रामीणों को माने तो मृतक बच्चे की माँ अपने पति से तंग आकर 06 वर्ष पूर्व दूसरी शादी रचा ली थी। मृतक बच्चा दादा दादी के परवरिश पर रह रहा था। मृतक के पिता राजू ठाकुर नशेड़ी एवं जुआ का आदी था।

Comments are closed.