पूर्व राष्ट्रपति डॉ० एपीजे अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित किया।

ब्यूरो रमेश शंकर झा समस्तीपुर बिहार।
समस्तीपुर:- भारत के अमूल्य रत्न सह मिसाइलमैन पूर्व राष्ट्रपति डॉ० एपीजे अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि पर पूरा राष्ट्र कृतज्ञ ता के साथ श्रद्धांजलि अर्पित किया। पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की चौथी पुण्यतिथि मनाया गया है। इस मौके पर जिले के वारिसनगर प्रखंड के सतमलपुर पंचायत में रालोसपा के छात्र प्रदेश अध्यक्ष बेलाल राजा ने उनके तैल्य चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दीया।

वहीँ रालोसपा के छात्र प्रदेश अध्यक्ष बेलाल राजा की अध्यक्षता में एक सभा का आयोजन किया गया। जिसमे भारत के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के व्यक्तित्व एवं कृतित्व की चर्चा करते हुए बेलाल राजा ने कहा कि डॉ० एपीजे अब्दुल कलाम एक वैज्ञानिक होने के साथ-साथ मनोवैज्ञानिक भी थे।उनको चेहरा पढ़ना भी आता था। वह किसी का भी चेहरा पढ़कर उसके बारे में बता देते थे।

उन्होंने ने कहा कि डॉ० अब्दुल कलाम उस शख्सियत का नाम है, जो जीवनभर ज्ञान के भूखे रहे और जिसमें दूसरों के भीतर भी ज्ञान की भूख जगाने की अद्भुत क्षमता उनमें थी। जिसने हमेशा विकास की बात कीये। फिर वह डेवलेपमेंट समाज का हो या फिर व्यक्ति की बात हो।

इस मौके पर जिला अध्यक्ष आफताब आलम, छात्र नेता रेयाज शेख, महफूज़ आलम, सरफुद्दीन राजा, शाहनवाज आलम, विकाश कुमार, सोनू कुमार, नवीन कुमार, अभिषेक कुमार, सलाउद्दीन, मो० जसीम सहित अन्य कार्यकर्त्ता उपस्थित थे।

Comments are closed.