गिरिराज सिंह ने फारूक अब्दुल्ला-महबूबा मुफ्ती पर आर्टिकल 35A विवाद परसाधा निशाना


राम नरेश ठाकुर, ब्यूरो
पटना। जम्मू कश्मीर में दस हजार अतिरिक्त अर्धसैनिक बलों की तैनाती और आर्टिकल 35ए के मुद्दे पर ट्वीट करते हुए गिरिराज सिंह ने विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा और कहा कि कई विपक्षी दल कश्मीर का विकास नहीं चाहते, वो वहां के लोगों को 35ए के नाम पर डराते हैं। कश्मीर में विकास की काफी सम्भवना हैं,इसे दूसरा स्विट्जरलैंड बनाया जा सकता है. बशर्ते की इसमें अब्दुल्ला और मुफ्ती जैसे लोग बाधा नहीं डालें।

जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजनका कहना है कि लोकतंत्र सहमति से चलता है और हमारा उनसे भले ही विरोध है। मगर उनकी बात को दरकिनार कर हम आगे नहीं बढ़ सकते। फारुख अब्दुल्ला कश्मीर की राजनीति में 40 साल से अहम रूप से सक्रिय हैं।

साथ ही जेडीयू ने कहा है कि महबूबा मुफ्ती भी जम्मू कश्मीर की वरिष्ठ नेता हैं. उनके पिता मुफ़्ती मोहम्मद सईद भी अहम पदों पर रहे हैं. राजीव रंजन ने कहा है कि एक बात बिल्कुल साफ है कि धारा 370 और 35 a पर जो पुरखों ने नियम बनाये हैं उससे जेडीयू भी समझौता नहीं करेगी. किसी भी कीमत पर विवादित विषयों पर हम साथ नहीं देंगे।

Comments are closed.