मुंबई में भारी बारिश से कई इलाकों में 5 से 6 फीट पानी भरा


आर.पी.मौर्या संववददाता
मुंबई। महाराष्ट्र के मुंबई में साल 2005 (944 .2 एमएम) के बाद आज सबसे ज्यादा बारिश हुई है और वहीं पिछले ५ दिनों से मुंबई के उपनगर में 375.2 MM बारिश हो चुकी है। भारी बारिश के चलते आज (मंगलवार) मुंबई के जिलों में छुट्टी की ऐलान कर दिया गया है। सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने लोगों को घरों में रहने की अपील की है। सीएम ने खुद बीएमसी के कंट्रोल रूम में पहुंचकर हालाता का जायजा लिया और मुंबई के आसपास के इलाकों में भारी बारिश के चलते दीवार गिरने से अब तक 22 लोगों के मारे जाने की खबर बताई जा रही है।

भारी बारिश में मलाड के कुरार इलाके में दीवार गिरने से हुए हादसे में मरने वालों की तादाद 18 पहुंच चुकी है। वहीं, 60 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। घायलों का जोगेश्वरी के ट्रॉमा केयर हॉस्पिटल, केईएम हॉस्पिटल, कांदीवली के शताब्दी हॉस्पिटल, मलाड के एमडब्ल्यू देसाई हॉस्पिटल और अंधेरी के कूपर अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। उधर शिवसेना ने मलाड हादसे के पीछे बीएमसी की लापरवाही के आरोपों को खारिज किया है। पार्टी नेता संजय राउत ने कहा कि यह एक हादसा है और इसकी वजह बीएमसी की नाकामी नहीं है। वहीं, कल्याण में बारिश के बाद दीवार गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई।

बारिश ने जमीन पर जिंदगी दुश्वार करने के साथ-साथ आसमान में उड़ान पर भी ब्रेक लगा दिया है। हालांकि मुंबई एयरपोर्ट को बंद नहीं किया गया है लेकिन एक फ्लाइट के रनवे पर फिसलने के बाद मुख्य रनवे पर ऑपरेशन फिलहाल रोका गया है। वैकल्पिक रनवे का इस्तेमाल किया जा रहा है। कुछ फ्लाइट्स को गोवा डायवर्ट किया गया है। अब तक 52 फ्लाइट रद्द की जा चुकी हैं, जबकि 54 का रूट डायवर्ट किया गया है।

वेस्टर्न रेलवे का कहना है कि चर्चगेट से विरार के बीच लोकल सेवाएं सामान्य रूप से चल रही हैं। नालासोपारा में सभी चार लाइनों पर जलस्तर कम हो गया है।लो विजिबिलिटी की वजह से ट्रेनें थोड़ी देरी से चल रही हैं। नालासोपारा में पानी घटने के बाद 30 मिनट के अंतराल पर वसई रोड और विरार के बीच लोकल ट्रेनें चलाई जा रही हैं। वेस्टर्न रेलवे के मुताबिक भारी बारिश और बाहर से ट्रेनें आने की वजह से कुछ सेक्शन पर ट्रेनें देरी से चल रही हैं। हालांकि चर्च गेट और वसई रोड के बीच लोकल सेवा सामान्य रूप से चल रही है। भारी बारिश के कारण ट्रेनें रद्द होने से ठाणे रेलवे स्टेशन पर लोग फंसे रहे। रेलवे प्रटेक्शन फोर्स ने लोगों के लिए चाय-नाश्ते का इंतजाम किया। रास्ते में फंसीं 8 ट्रेनों के यात्रियों को भी पानी उपलब्ध कराया गया।

Comments are closed.