सैंकड़ों कार्यकर्ता शिवसेना में शामिल


आर.पी.मौर्या संवाददाता
मुंबई। शिवसेना का भगवा जैसे लोकसभा में लहराया, उसी तरह विधानसभा पर भी लहराए बिना नहीं रहेगा। ऐसा विश्वास शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल व्यक्त किया। शहापुर के राकांपा विधायक पांडुरंग बरोरा ने कल शिवसेना भवन में शिवसेना में प्रवेश किया। इस अवसर पर मार्गदर्शन करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि चुनाव आने पर इस दल के लोग दूसरे दल में आते-जाते हैं, परंतु शिवसेना में जो लोग आ रहे हैं, वे प्रलोभन न दिखाते हुए विश्वास और प्रेम से जीते हुए व्यक्ति हैं। शिवसेना को आज जो यश मिल रहा है, वह लोगों के विश्वास के कारण मिल रहा है। शिवसेना लोगों की सेवा करती है, जिसके कारण लोगों का शिवसेना पर विश्वास बढ़ता है। शिवसेना का यह विश्वास सार्थक सिद्ध होगा।

शिवसेनापक्षप्रमुख ने इस अवसर पर कहा कि हिंदूहृदयसम्राट मा. शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे और उसी प्रकार धर्मवीर आनंद दिघे जी ने विजय का जो बीज बोया है, उसके कारण ठाणे जिला गढ़ नहीं बल्कि अभेद्य गढ़ बना। कितनी लहरें आई और कितनी लहरें गईं लेकिन अभेद्य गढ़ का बाल भी बांका नहीं हुआ। मर्द शिवसैनिकों ने इस अभेद्य गढ़ को मजबूत रखा है। बिना किसी प्रलोभन के शिवसेना पर विश्वास व प्रेम के कारण पांडुरंग बरोरा शहापुर की जनता के प्रश्नों को लेकर शिवसेना में शामिल हुए हैं, उन प्रश्नों को शिवसेना अवश्य हल करेगी, ऐसा आश्वासन उद्धव ठाकरे ने दिया।

पांडुरंग बरोरा के साथ पालघर जिलाध्यक्ष केदार काले वहां के नगराध्यक्ष सहित अन्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे, शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे की उपस्थिति में शिवसेना में प्रवेश किया। इन सभी का उद्धव ठाकरे ने शिवसेना में स्वागत किया। कांग्रेस के प्रवक्ता आनंद दुबे ने कुछ दिन पहले शिवसेना में प्रवेश किया था। उनका भी इस मौके पर सत्कार किया गया। इस अवसर पर शिवसेना नेता व सार्वजनिक निर्माण मंत्री एकनाथ शिंदे, विधायक रवींद्र फाटक, विधायक संजय शिरसाट आदि उपस्थित थे।

शहापुर में राकांपा विधायक रूप में था। तब भी पालक मंत्री एकनाथ शिंदे ने कभी भेदभाव नहीं किया। जनता की समस्याओं का समाधान ढूंढ़ने के लिए उन्होंने हमेशा सहयोग दिया। परिवार में कांग्रेस का माहौल था, तब भी छोटी उम्र से ही बालासाहेब के भाषणों से प्रेरणा मिलती थी। शिवसेना काम करनेवाला संगठन है। शहापुर वासियों की समस्याओं का समाधान करने के लिए शिवसेना में प्रवेश किया। शहापुर में २८७ गांवों के पानी का प्रश्न, एमआईडीसी हो, युवकों को रोजगार, सरकारी भवन, क्रीडा संकुल निर्माण करने सहित अनेकों सवाल शिवसेना में आने से हल हो जाएंगे। राकांपा में काम करने में बंधन था। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने शिवबंधन बांधा है।

Comments are closed.