सात दिनों में कुरआन हुआ है पूरा,तरावीह नहीं हुई है पूरी:-अल्हाज मौलाना हबीब

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-रहमत और बरकत वाला रमज़ानुल मुबारक के महीने में जिले के सभी मस्जिद व कई मदरसों में तरावीह की नामज़ शुरू की गई।वहीं शहर स्थित महिसौड़ी मोहल्ले के अनवारुल उलूम मदरसा में 07 दिवसीय तरावीह की नामज़ शुरू की गई थी जो रविवार की देर रात हर्षो-उल्लास के साथ पूरी कर ली गई है।वहीं तरावीह की नमाज हाफिज पैगाम सादिक और हाफिज मो.इरफान कासमी द्वारा पढ़ाई गई।वहीं 07 दिन के तरावीह के दौरान कुरआन पूरी करने के बाद सभी रोजेदारों के बीच मिठाईयां बांटी गई।तरावीह की नामज़ व कुरआन पूरी होने के बाद यूपी के मुजफ्फरनगर से आये अल्हाज मौलाना हबीब ने सभी रोजेदारों से मुखातिब होते हुए कुरआन और हदीस की कुछ मुख्य जानकारियां दी।उसके बाद तरावीह के नामाज़ और कुरआन पूरी करने के सवाब के बारे में भी विस्तार से वर्णन किया।

उन्होंने कहा कि तरावीह की नमाज़ पूरे रमज़ान तक पढ़ी जाती है।07 दिन की तरावीह में कुरआन पूरा हुआ है इसका सवाब(पुण्य) तो मिलेगा ही लेकिन पूरे रमज़ान तरावीह की नामाज़ पढ़ना भी सवाब( पुण्य) है।इसलिए उन्होंने लोगों से अपील किया कि पूरे रमज़ान तक कुरआन पूरी होने के बाद सुरः तरावीह होगी जिसमें भी सभी रोजेदार शामिल हों।आगे उन्होंने बताया कि रमज़ानुल मुबारक का महीना दिन और रात अल्लाह की इबादत का महीना है।उसके बाद उन्होंने सभी रोजेदारों के साथ अल्लाह से नम आंखों से दुआएं मांगी।मौके पर मो.खालिद हुसैन,हाफिज शमशाद,फिरोज आलम उर्फ डिसू,मो.अय्यूब, मो.अनशअहमद,मो.वसीम,मो.सफदर,मो.मुश्ताक,मो.नौशाद अनवर,प्रोफेसर अय्यूब, वहाज़ सिद्दीकी,मनौवर हुसैन,मो.बुलंद अख्तर,सिद्दीक अब्दुल्लाह,मो.शहीम अंसारी सहित सैकड़ों रोजेदार उपस्थित थे।

Comments are closed.