छठे दिन 102 एम्बुलेंस चालक का अनिश्चितकालीन हड़ताल टूटा


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-102 एम्बुलेंस कर्मी का अनिश्चितकालीन हड़ताल शनिवार को खत्म हो गया।102 एम्बुलेंस के कर्मी द्वारा लगातार 05 दिन तक हड़ताल पर अड़े रहने की वजह से मरीज काफी परेशान थे रेफर होने के बाद मरीजों को समय पर एम्बुलेंस की सुविधा नहीं मिल पाती थी।लेकिन अब शनिवार से मरीजों को एम्बुलेंस से जाने के लिए सोंचना नहीं पड़ेगा।खास कर गर्भवती महिलाओं को अब समय पर एम्बुलेंस की सुविधा मिलेगी।बताते चलें कि बिहार राज्य 102 एम्बूलेंस कर्मचारी संघ पटना द्वारा एक चिट्ठी निर्गत कर हड़ताल समापन की सूचना दी गई।चिट्ठी में बताया गया है कि श्रम विभाग द्वारा यह निर्णय लिया गया कि संस्था सम्मान फाउंडेशन आरडीपीएल को हर हाल में श्रम कानून 09 अगस्त से लागू करना है अगर वह इस नियम को नहीं मानते हैं तो उनकी टेंडर कैंसिल हो जाएगी।और उच्च स्तरीय बैठक में निर्णय लिया जाएगा।बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव,श्रम विभाग के प्रधान सचिव,स्टेट हेल्थ सोसायटी के कार्यपालक निर्देशक,सरकार के सचिव व कंपनी के पदाधिकारी और संगठन के पदाधिकारी के बीच होगी।इसलिए सभी जिलाध्यक्ष और सचिव को आस्वस्त करते हुए संघ द्वारा सूचना दी गई कि सभी 102 एम्बुलेंस के चालक व कर्मी अपने कार्यों पर चले जाएं।इधर एम्बुलेंस कंट्रोल ऑफिसर पारस जैसवाल द्वारा हरी झंडी दिखाकर सदर अस्पताल परिसर से सभी एम्बुलेंस को अपने-अपने कार्य स्थल पर रवाना किया।वहीं निलंबित जिलाध्यक्ष बालमुकुंद मंडल और सचिव रवि कुमार को पुनः पदस्थापित किया गया।

मालूम हो कि एम्बुलेंस कर्मियो द्वारा श्रम संसाधन विभाग द्वारा तय की गई न्यूनतम मजदूरी देने,अतिरिक्त कार्यावधि का अतिरिक्त भुगतान देने,सभी 102 ऐंबुलेंस कर्मियों को वेतन पर्ची अभिलंब देने सहित ईपीएफ यानी इम्प्लॉयी प्रोविडेंट फंट नम्बर जारी करने व सप्ताह में एक दिन की छुट्टी देने की मांग को लेकर हड़ताल किया गया था।

Comments are closed.