भारत ने 3 गोल्ड समेत 17 मेडल जीते


भारत ने 3 गोल्ड, 7 सिल्वर और 7 ब्रॉन्ज सहित कुल 17 मेडल जीते हैं। पदक तालिका में भारत चौथे नंबर पर रहा। बहरीन 11 गोल्ड सहित कुल 22 मेडल के साथ नंबर एक पर रहा। हर दो साल में होने वाले इस टूर्नामेंट का पिछला आयोजन 2017 में भुवनेश्वर में हुआ था। तब भारत ने 12 गोल्ड, 5 सिल्वर और 12 ब्रॉन्ज समेत 29 मेडल जीते थे। टीम नंबर-1 पर भी रही थी।

भारत के लिए भारतीय धावक पीयू चित्रा ने 1500 मीटर और गोमती मारिमुतु ने 800 मीटर रेस में गोल्ड जीता। चित्रा ने अपनी रेस 4.14.56 मिनट में और गोमती ने 2.02.70 मिनट में पूरी की। इनके अलावा तीसरा गोल्ड शॉट पुट में तेजिंदर पाल सिंह ने दिलाया। तेजिंदर ने 20.22 मीटर दूर गोला फेंका।

200 मीटर की रेस में भारतीय धावक दुती चंद ने ब्रॉन्ज मेडल जीता। दुती चंद ने अपनी रेस 23.24 सेकंड में पूरी की। इससे पहले भारतीय हेप्टाथलॉन खिलाड़ी स्वप्ना बर्मन ने सिल्वर मेडल जीता। स्वप्ना ने 5993 पॉइंट के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। महिला वर्ग के 10000 मीटर रेस संजीवनी जाधव ने 32 मिनट 44.96 सेकंड में पूरी की और ब्रॉन्ज मेडल जीत लिया।

4 गुणा 400 मीटर रेस के महिला और पुरुष दोनों कैटेगरी में भारत को सिल्वर मिला। महिला वर्ग में प्राची, पूवम्मा, सरिताबेन और विस्मया ने 3 मिनट 32.21 सेकंड में रेस पूरी कर दूसरा स्थान हासिल किया। पुरुष वर्ग में जीवन, कुन्हू, अनस और राजीव अकोरिया ने 3 मिनट 03.28 सेकंड में रेस पूरी कर सिल्वर मेडल हासिल किया।

Comments are closed.