बाड़मेर जिले के सीमावर्ती गांव में झोलाछाप डॉक्टरों का बोलबाला

रिपोर्ट-भुट्टाखान
बाड़मेर/सेड़वा-जिलेभर में झोलाछाप डॉक्टरों एवं निमकी मौका आतंक एक अनसुनी पहले की तरह हर ग्राम में फैलता जा रहा है बाड़मेर जिले के सीमावर्ती क्षेत्रों जसा चौहटन धनाऊ सेड़वा इन इलाकों में झोलाछाप डॉक्टरों एवं निम हकीमो का बोलबाला है।
जिले के आखरी क्षेत्र तहसील सेड़वा में हर ग्राम में फर्जी एवं अवैध मेडिकल स्टोर इसका लाइसेंस तो दूर की बात वहां कार्यरत व्यक्ति का तरह से यह भी जानकारी नहीं होती कि कौन सी दवाई किस बीमारी के लिए उपयोग की जाती है इसके साथ ही अवैध कॉलोनी कॉल कर लोगों की जान के साथ साप सीडी की खेल खेला जा रहा है।

विज्युल सेड़वा के कुंदनपुरा गांव में जब हमारी टीम पहुंची तो एक मेडिकल स्टोर लिखने में सामान्य पर जब हमारी टीम ने वहां जाकर देखा तो एक व्यक्ति जो चारपाई पर लेटा है और उसको देसी इलाज की तरह मेडिसन व्याकुल को चढ़ाया जा रहा था जब इस बारे में हमने पास बैठे एक व्यक्ति से पूछा की यहां डॉक्टर कौन है तो उसने कहा डॉक्टर साहब अंदर बैठे हैं दवाइयों का ढेर लगा पड़ा था जब हम ने उस दिन के अंदर बैठे झोलाछाप डॉक्टर से पूछा कि यहां क्या चल रहा है।

मीडिया को देख भाग गया झोलाछाप
जब उस झोलाछाप डॉक्टर को पता चला कि मीडिया ने उसके फोटो लिए तब फटाफट अपने क्लीनिक बंद कर पास ही बनी एक किराना स्टोर की दुकान में जाकर मुंह पर हाथ रख कर बैठ गया और कहने लगा कि मुझे पता नहीं यह क्लीनिक किसका है आपको जो करना है वह कर लो मैं नहीं डरता किसी से अब ऐसा कर रहे हैं सब प्रशासन से मिलेंगे एक नहीं ऐसा नहीं हो

बॉर्डर इलाकों में झोलाछाप डॉक्टरों का अड्डा
सेडवा चौहटन धनाऊ और बाखासर क्षेत्र यहां हर गांव में अवैध मेडिकल और झोलाछाप डॉक्टरों का बोलबाला है प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी तो आंख बंद कर यहां आने को रहे परंतु आम जनता आसपास के रहवासी लोग इलाज एवं बीमारी के जल्द बचाव के अभाव में अपनी जान के साथ इन झोलाछाप डॉक्टरों को खेलने का मौका दे रहे है।

Comments are closed.