धान की ख़रीदगी में हुए अनियमितता को लेकर किसान महासभा ने की बैठक


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-सोमवार को शहर स्थित भाकपा माले के जिला कार्यालय में अखिल भारतीय किसान महासभा के जिला कमिटी की बैठक आयोजित की गई।बैठक महासभा के जिला सचिव मनोज कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में हुई।बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।इस दौरान किसान महासभा के जिला सचिव मनोज कुमार पाण्डेय ने कहा कि खैरा प्रखंड अंतर्गत माँगोबन्दर पैक्स अध्यक्ष कमलेश कुमार सिंह द्वारा वित्त वर्ष 2018-19 में धान खरीदारी में जिन किसानों का नाम सूची में अंकित किया है वे किसानों ने पैक्स में धान नहीं बेचा है।कई किसान वित्तीय वर्ष 2018- 19 के सुखाड़ प्रभावित धान योजना का लाभ लिया है लेकिन पैक्स में इस वर्ष धान नहीं दिया है पैक्स अध्यक्ष व्यपारियों से धान लेकर पैक्स में जमा किया किसानों के जानकारी दिए बिना ही उनका रजिस्ट्रेशन नंबर सहित किसानों का नाम पर जमा कर दिया गया। किसानों में चंद्र शेखर सिंह 53 क्विंटल,मुरी प्रसाद चौरसिया,50 क्विंटल, सिकंदर ठाकुर,50क्विंटल,मनोहर सिंह,75 क्विंटल,तिरपुरारी सिंह 95 क्विंटल,ओंकार शरण सिंह 96,क्विंटल,बलराम दुबे 50 क्विंटल,शक्तिभूषण सिंह 60 क्विंटल,प्रदीप सिंह 55 क्विंटल,राजन सिंह 70 क्विंटल,परमा सिंह 120 क्विंटल सहित एक दर्जन से अधिक किसानो के नाम पर धान की हेरा-फेरी की गई है।

पैक्स अध्यक्ष और सहकारिता बैंक के मिली भगत से फर्जी खाता के तहत लेन-देन किया गया जबकि वित वर्ष 2018-19 में जमुई जिला के खैरा प्रखंड सुखाड़ घोषित किया गया और किसानों ने सुखाड़ प्रभावित योजना धान की राशि भी लिया है।जिसमें चंद्र शेखर सिंह 24583 रुपया ,मुरारी प्रसाद चोरसिया ,17973 रुपया, सिकंदर ठाकुर 10000 रुपया, मनोहर सिंह 21852 रुपया,त्रिपुरारी सिंह,16,389 रुपया,शक्ति भूषण सिंह 24,583 रुपया सहित उपरोक्त सभी किसानों ने लाभ लिया।ये नीतिश और मोदी की सरकार में पैक्स अध्यक्षों और सहकारिता बैंकों के मिलिभगत से जमुई जिले में लाखों टन धान कागज पर खरीदारी हुई और सरकारी राशि का घोटाला हुआ।

इधर कमरेड बाबू साहब ने मांग किया कि माँगो बंदर पैक्स अध्यक्ष कमलेश सिंह द्वारा धान की ख़रीदगी की उच्य अस्तरीय जांच कराई जाए।मांगोबंदर पैक्स में हजारों क्विंटल धान की खरीदी में हुई व्यापक पैमाने पर अनियमितता बरती गई है।इस अनियमितता के खिलाफ 25 जुलाई को जमुई के कचहरी चौक पर धरना देने का निर्णय लिया गया है धरना के माध्यम से मांगोबंदर पैक्स में एवं संपूर्ण जिला के पैक्स में धांधली की उच्चस्तरीय जांच की मांग की जायेगी।

Comments are closed.