कई बूथों पर ईवीएम हुआ खराब,चार बूथों पर ग्रामीणों ने किया बहिष्कार


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-2019 लोकसभा चुनाव के दौरान जिले के 1263 मतदान केंद्रों पर पहली चरण में गुरुवार को मतदान शुरू हुआ।मतदान शुरू होने से पहले ही कई बूथों पर ईवीएम की खराबी के कारण मतदान देर से प्रारंभ हुआ।ईवीएम के खराबी की वजह से घंटों मतदाता को लाईन में खड़ा रहना पड़ा।वहीं जिले के चार जगहों पर पानी और सड़क की मांग को लेकर ग्रामीणों ने वोट का बहिष्कार किया।बताते चलें कि सिकन्दरा विधानसभा क्षेत्र के करमा गांव के ग्रामीणों ने नहर में पानी नहीं होने और संसद व प्रत्याशियों के नहीं आने पर विरोध जताते हुए वोट का बहिष्कार कर दिया।लिहाजा बूथ संख्यां 129 तथा 130 पर एक भी मत नहीं पड़े।वहीं जमुई विधानसभा क्षेत्र के तरीदाबिल गांव में बूथ संख्यां 232 पर रोड नहीं तो वोट नहीं का नारा लगाकर वोट का बहिष्कार कर दिया।इस दौरान पुलिस द्वारा समझा-बुझा कर शाम में 62 मतदान कराया गया तभी ग्रामीणों और पुलिस में झड़प हो गया जिसमें ग्रामीणों ने ईवीएम को तोड़ डाला।हालांकि ईवीएम तोड़ने के जुर्म में पुलिस द्वारा इस मामले में 04 लोगों को हिरासत में लेकर पूछ-ताछ की जा रही है।इसी प्रकार झाझा विधानसभा क्षेत्र के तेलियाडीह गांव तथा चकाई विधानसभा क्षेत्र के जलखरिया गांव में भी ग्रामीणों ने वोट का बहिष्कार कर दिया।

DM और SP के घंटों समझाने के बाद भी नहीं माने करमा गांव के ग्रामीण
लोकसभा चुनाव के पहले चरण में जमुई जिले सिकंदरा प्रखंड के करमा गांव के मतदाताओं ने अपने गांव में नहर में पानी नहीं आने,पीने के लिए पानी नहीं मिलने,संसद के नहीं आने आदी समस्याओं को लेकर वोट का बहिष्कार कर दिया। बहिष्कार की खबर पाकर मौके पर पहुंचे डीएम धर्मेंद्र कुमार एसपी जगनाथरेड्डी द्वारा मतदाताओं को घंटों समझाया गया लेकिन आक्रोशित मतदाता पदाधिकारियों की एक न सुने और वोट का जमकर बहिष्कार कर दिया।लोकसभा चुनाव को लेकर करमा गांव में दो मतदान केंद्र बनाए गए थे।जिसमें बूथ संख्या 129, 130 पर लोगों ने कई मुद्दा को लेकर वोट का बहिष्कार किया।

05 वर्ष कहाँ चले गए थे संसद,अनेकों समस्या से जूझ रहा गांव
बहिष्कार कर रहे गांव के मतदाता अमरजीत कुमार, बबलू सिंह, विजय कृष्ण, धर्मेंद्र कुमार, भानु कुमार, रामनरेश सिंह, नागेश्वर सिंह, रणजीत सिंह, ओकार पासवान, निशिकांत सिंह, भूषण राम, रौशन कुमार, आनंदी पासवान, बजरंगी राम, इंदु भूषण सिंह, कक्कू साव, रंजीत कुमार सहित करमा गांव के सैकड़ों लोगों ने गांव में प्रत्याशियों के नहीं आने एवं वोट नहीं मांगने पर भी नाराजगी जाहिर करते हुए वोट का बहिष्कार किया। सबसे ज्यादा नाराजगी चिराग पासवान के प्रति जताया। ग्रामीणों ने कहा कि जबसे संसद चिराग पासवान जीते हैं एक बार भी इस गांव की ओर रुख नहीं किये।05 वर्ष तक कहाँ चले गए थे संसद।हमारे गांव में कई प्रकार के समस्याएं हैं।जिसमें अहम समस्या किसानों के लिए सिंचाई व्यवस्था की है।यहाँ वर्षो से रघुनाथपुर केनाल नहर में पानी नहीं आ रहा है।तीन वर्षों से बारिश नहीं होने से खेतों में अनाज नहीं उपज रहे हैं।जिसके कारण किसानों को मेहनत का मजदूरी भी नहीं निकल पा रहा हैं।जिसको देखने वाला जनप्रतिनिधि या कोई नेता नहीं हैं। नेता समय पर वोट मांग लेते हैं और 5 सालों के लिए गायब हो जाते हैं।

एक सांसद 05 वर्ष झलक नहीं दिखाए तो दूसरा इस गांव की समस्या को दूर करना उचित नहीं समझा
इसके अलावा करमा मुसहरी के मतदाता ने कहा कि रोड नहीं रहने पर बरसात के दिनों में कीचड़ और गंदे पानी से होकर आना जाना पड़ता है।भीषण गर्मी में पानी की भारी किल्लत होती हैं। पानी-पीने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता हैं। ग्रामीणों ने 5 साल पूर्व जमुई जिले के सांसद भूदेव चौधरी और वर्तमान सांसद चिराग पासवान के खिलाफ जमकर खड़ी खोटी सुनाई थी।उन्होंने कहा कि भूदेव चौधरी के जीत जाने के बाद 5 साल में एक बार भी झलक दिखाने तक नहीं आए।इसके अलावे चिराग पासवान 5 साल के दरमियान में सैकड़ों बार जमुई आए पर करमा की तरफ झांकने तक नहीं आए।यहां तक कि कोई भी प्रतिनिधी वोट मांगने के लिए भी करमा गांव नहीं आ सके। वोट का बहिष्कार की खबर सुनते ही प्रखंड से लेकर जिला के पुलिस प्रशासन पदाधिकारी और कई जन प्रतिनिधियों ने आकर ग्रामीणों को लाख समझाने की कोशिश की फिर भी ग्रामीणों ने वोट का बहिष्कार कर दिया।

बोले डीएम स्वेच्छा से वोट देने से रोकने वालों पर होगी कार्रवाई
डीएम एवं एसपी ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को मत के अधिकार के बारे में समझाया। डीएम ने कहा कि मत आपका अधिकार हैं।समझाना मेरा काम है आगे आपकी मर्जी आप वोट करें या ना करें। कोई भी व्यक्ति को दबाव नहीं बनाया जाए अगर कोई किसी पर दबाव बनाता हैं तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।मौके पर एडीएम संजय कुमार, डिप्टी कलेक्टर अभिषेक कुमार, बिडियो आनंद प्रकाश, सीओ विनोद कुमार चौधरी, थाना अध्यक्ष राजवर्धन कुमार सहित कई पदाधिकारी पहुंचे हुए थे।

Comments are closed.