उर्दू भाषा के प्रचार-प्रसार को लेकर उर्दू भाषी शिक्षकों की हुई बैठक

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-द्वितीय राज्य भाषा उर्दू के कार्यान्वयन व प्रचार-प्रसार को लेकर जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार के आदेश पर शनिवार को सदर प्रखंड कार्यालय में उर्दू भाषी शिक्षकों की एक बैठक आयोजित की गई।बैठक की अध्यक्षता प्रखंड विकास पदाधिकारी पुरुषोत्तम त्रिवेदी ने किया।बैठक में मुख्य रूप से उर्दू भाषा के प्रचार-प्रसार,भाषा के विकास पर चर्चा की गई।साथ ही विद्यालय में उर्दू की छात्र-छात्रा की संख्यां,विद्यालय में अध्ययनरत छात्रों के लिए शिक्षकों की संख्यां,उर्दू पाठ्यक्रम के पुस्तकों के उपलब्धता की स्थिति,पुस्तक के लिए राशि छात्र-छात्रा के खाते में जाने के बाद पुस्तकों के खरीदारी की स्थिति,विषय वार उर्दू पाठ्यक्रम में शिक्षा दी जाती है अथवा नहीं आदि विषय पर भी चर्चा हुई।प्रखंड विकास पदाधिकारी ने कहा कि जिलाधिकारी के आदेश के बाद +2उच्च विद्यालय,उच्च विद्यालय,परियोजना,बालिका एवं प्रखंड स्तर के सभी उत्क्रमित मध्य विद्यालय के उर्दू भाषी शिक्षकों की बैठक बुलाई गई है।

बैठक के दौरान सदर बीडीओ ने शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि सबसे पहले शिक्षक बच्चों की उपस्थिति विद्यालय में शतप्रतिशत सुनिश्चित करें,इसके लिए बच्चे के अभिभावक से मिलकर बच्चे को विद्यालय आने के लिए प्रेरित करें,विद्यालय में उर्दू का साइन बोर्ड लगवाएं,विद्यालय के विभिन्न शाखाओं के नाम उर्दू में भी प्रकाशित करें साथ ही किसी भी प्रकार के नोटिस या सर्कुलर को उर्दू में भी लगवाएं साथ ही सभी विद्यालय में उर्दू का अखबार मंगवाएं।इसके अलावा छात्रों के बीच उर्दू भाषा मे वाद-विवाद कराएं,जिला स्तर पर आयोजित उर्दू के कार्यक्रम में छात्रों व अभिभावक को भाग लेने के लिए प्रेरित करें।आगे उन्होंने कहा कि साथ ही सभी विद्यालयों में उर्दू शिक्षा के स्तर की भी जांच की जाएगी।उसके बाद जिलाधिकारी को रिपोर्ट भेजी जाएगी।

बताते चलें कि उर्दू निदेशालय पटना व जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार के निर्देश के बाद सभी प्रखंड के बीडीओ द्वारा चिट्ठी निर्गत कर उर्दू भाषी शिक्षक व शिक्षिकाओं की बैठक की जा रही है।मौके पर जिला अल्पसंख्यक पदाधिकारी डॉ. मासूम रज़ा, डॉ. ग़ज़ाली अनवर हेलाल, मनोज सिन्हा,नाजिर महफूज अनवर,कलाम उद्दीन,प्रो.नाहिद बदर,शिक्षक हिफजूल रहमान,अय्यूब अंसारी,मो.शोएब आलम सहित कई शिक्षक व शिक्षिका मौजूद थी।

Comments are closed.