विदेश से पैसे भेजने के मामले में भारतीय पहले पायदान पर


विदेश से अपने देश में पैसे भेजने के मामले में भारतीय एक बार फिर पहले पायदान पर बन गई हैं। साल 2018 में प्रवासी भारतीयों ने 79 अरब डॉलर भारत में भेजे हैं। वर्ल्ड बैंक की तरफ से जारी रिपोर्ट में यह बात कहा है कि वर्ल्ड बैंक की ‘माइग्रेशन एंड डेवलपमेंट ब्रीफ’ रिपोर्ट के नवीन संस्करण के मुताबिक, भारत के बाद चीन का नंबर आता है। चीन में उनके नागरिकों द्वारा 67 अरब डॉलर भेजा गया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत एक बार फिर पहले पायदान पर रहने में कामयाब रहा है. पिछले तीन वर्ष में विदेश से भारत को भेजी गई रकम में महत्वपूर्ण बढ़ोतरी हुई है. साल 2016 में 62.7 अरब डॉलर से बढ़कर 2017 में 65.3 अरब डॉलर हो गया था. वर्ल्ड बैंक ने कहा, ‘भारत को भेजे गए धन में 14 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर्ज हुई है. केरल में आई बाढ़ के चलते प्रवासी भारतीयों के अपने परिवारों को ज्यादा आर्थिक मदद भेजने की उम्मीद है।

दुनिया भर के देशों में भेजा जाने वाला धन 2018 में 689 अरब डॉलर पर पहुंच गया। 2017 में यह 633 अरब डॉलर पर था. इसमें विकसित देशों में उनके नागरिकों द्वारा भेजा जाने वाला पैसा भी शामिल है। बैंक ने कहा कि दक्षिण एशिया में भेजी गई रकम 12 प्रतिशत बढ़कर 131 अरब डॉलर हो गई। वर्ल्ड बैंक ने कहा कि अमेरिका में आर्थिक परिस्थितियों में मजबूती और तेल की कीमतों में तेजी के चलते धन प्रेषण में वृद्धि हुई है।

Comments are closed.