महिसौड़ी मुहल्ले के नाले का निकास के बजाए नप ने लगाया पम्पसेट,अबतक दूर नहीं हुई जल-जमाव की समस्या


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-शहर स्थित महिसौड़ी मुहल्ले के 400 घरों के नाले का निकास तीन महीने बीतने के बावजूद अबतक पदाधिकारियों या जनप्रतिनिधियों द्वारा नहीं निकाला जा सका।इस भीषण समस्या से मुहल्लेवासियों को निजात दिलाने में पदाधिकारी व जनप्रतिनिधि बिल्कुल फेल हो गए हैं।बारिश होते ही मुहल्ले के कई घरों में नाले का पानी घुस गया है। पदाधिकारी से लेकर जनप्रतिनिधि तक गहरी नींद में सोये हुए हैं तो आखिर ऐसे में मुहल्लेवासी किससे इस समस्या के समाधान की उम्मीद जगाए।

इस मामले पर पदाधिकारी व जनप्रतिनिधि से पूछने पर बस एक ही जवाब मिलता है कि पम्पसेट से पानी निकाला जा रहा है।तीन महीने बीत गए हैं आखिर कब तक पम्पसेट से पानी निकाला जाएगा।जबकि पम्पसेट के बावजूद कई घर में नाले का पानी घुस चुका है।दो पम्पसेट तो कई दिनों से खराब होकर उसी नाले के पानी में सड़ रहा है।बताते चलें कि सबकुछ जान कर भी 400 घर के मुहल्ले को नर्क बना दिया गया है।पूर्व वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष बारिश कम होने के बाद भी मुहल्ले के आधा भाग को नाले का पानी घेर चुकी है।मॉनसून के दस्तक देने के बाद से ही महिसौड़ी मुहल्ले में जल-जमाव की समस्या इतनी बढ़ गई है कि लोगों का जीना दुश्वार हो गया है।

-क्या कहते हैं मुहल्लेवासी
महिसौड़ी मुहल्ले निवासी मो.बुलंद अख्तर ने बताया कि लगभग 06 महीने से मुहल्ले में भीषण जल-जमाव की समस्या उत्पन्न है।एक दर्जन से अधिक घर गंदे पानी के चपेट में आ गया है।जिस वजह से घुट-घुट कर मुहल्ले के लोग जीने को विवश हैं।मो.गुलज़ार ने बताया कि इस मुहल्ले में वर्षों पूर्व कुन्नू पोखर था जिसके अस्तित्व को कुछ लोगों द्वारा मिटा दिया गया है और नाले के निकास को भी बंद कर दिया गया।पदाधिकारी भी लापरवाह बने हैं जिस वजह से यह समस्या उत्पन्न हुई है।

मो.कुद्दुस बताया कि कई बार शिकायत के बावजूद इसका कोई निदान नहीं निकाला गया है।जबकि पदाधिकारी व जनप्रतिनिधि जल-जमाव स्थल का निरीक्षण करने आये थे।मो.अनवर और मो.कैलू बताते हैं कि मुहल्ले में जमा नाले का गंदा पानी के लिए पदाधिकारी द्वारा पानी निकासी के लिए दो पम्प लगाया गया था लेकिन दोनो पम्प 15 दिन से खराब पड़ा है।एक पम्प चालू है लेकिन कभी-कभी उसे चलाया जाता है।जबकि सबीना खातून की माने तो नाले का पानी कई घरों में घुस गया है जिससे लोगों को रहने व आने-जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।कई पदाधिकारी आये लेकिन आश्वासन के अलावा अबतक कुछ नहीं मिला।

-कहते हैं विधायक
जमुई के स्थानीय विधायक विजय प्रकाश ने कहा कि शहर में जल-जमाव की भीषण समस्या को लेकर कई बार नगर निगम से लेकर मुख्यमंत्री तक को सूचना दी गई है।इस समस्या को दूर करने के लिए करोड़ों रुपये का डीपीआर बनाया गया था लेकिन उस डीपीआर कहां गायब हो गया कुछ पता ही नहीं चल रहा है।इस सरकार में सिर्फ इस्टीमेट घोटाला हो रहा है पदाधिकारी भी लापरवाह बने बैठे हैं।जल-जमाव की भीषण समस्या पर संबंधित पदाधिकारी से बात कर इसका समाधान निकाला जाएगा।

-कहते हैं पदाधिकारी
कार्यपालक पदाधिकारी डॉ.जनार्दन प्रसाद वर्मा ने बताया कि जल-जमाव की समस्या को दूर करने के लिए फिलहाल पम्पसेट लगा कर पानी को निकाला जा रहा है।लेकिन स्थायी निदान अब तक नहीं निकल सका है।

Comments are closed.