मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुरू किया वन महोत्सव


राम नरेश ठाकुर, ब्यूरो
पटना। बिहार में वन महोत्सव की शुरुआत कर दिया गया और 15 अगस्त तक चलनेवाले महोत्सव के दौरान डेढ़ करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके तहत वन विभाग की ओर से एक करोड़ पौधे लगाये जायेंगे। जबकि मनरेगा के तहत ग्रामीण विकास विभाग 50 लाख पौधे लगायेगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसकी शुरुआत की है और इस दौरान उन्होंने कहा कि जल- जीवन- हरियाली अभियान से ग्लोबल वार्मिंग पर काबू पाया जायेगा। उन्होंने कहा कि गांधी चर्चा की तरह सरकारी स्कूलों में रोज वन गीत सुनाकर बच्चों को पौधे लगाने और उनके संरक्षण की सीख भी दी जायेगी।

वन महोत्सव कार्यक्रम में उद्घाटनकर्ता के रूप में पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि विकास के नाम पर पेड़ काटे जा रहे हैं और उनकी जगह पर उद्योग या भवन बनाये जा रहे हैं। जिससे धरती पर खतरा उत्पन्न हो गया है। दुनिया में जिस तरह से ग्लोबल वार्मिंग बढ़ रही है और आनेवाले दिनों में धरती के अस्तित्व पर खतरा पैदा हो जायेगा। हमारा स्पष्ट तौर पर मानना है कि अगर जल और हरियाली नहीं रहेगी, तो जीवन भी नहीं रहेगा। इसी को ध्यान में रख कर ये अभियान भी शुरू किया जा रहा है, जिसको लेकर बहोत कार्य योजना तैयार की गयी है, जिसमें तमाम चीजें मौजूद हैं, जिन्हें डेट बाउंड लागू किया जायेगा।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने बचपन के दिनों को याद कर कहा कि जब हम पढ़ते थे, तब साल में 12 से 15 सौ मिलीमीटर बारिश होती थी, लेकिन पिछले तीन दशक में अगर औसत देखा जाये, तो एक हजार मिलीमीटर ही बारिश रिकार्ड किया गया है। पिछले साल 976 मिलीमीटर बारिश हुई है और अगर यही स्थिति रहेगी, तो सोचिये क्या होगा ?

Comments are closed.