शिक्षाविद ही नहीं एक बेहतर मानववादी थे प्रो० गनी:- डा० प्रभात कुमार


रमेश शंकर झा,समस्तीपुर बिहार
समस्तीपुर:- समस्तीपुर काँलेज समस्तीपुर के सेवानिवृत्त अंग्रेजी के प्रोफेसर अब्दुल गनी 86 वर्ष अब इस दुनिया मे नहीं रहे। आज सुबह लगभग 9 बजे में अंतिम साँस लिये और इस दुनिया को छोड़ चले। वह कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। जिले के धरमपुर निवासी प्रो० गनी की पत्नी की मृत्यु भी हाल ही में हो गई थी। उनके पुत्र इरशाद ने बताया कि शुक्रवार को धरमपुर स्थित कब्रिस्तान में उनको दफनाया दिया जाएगा।

उनके अनन्य मित्र सह समस्तीपुर काँलेज के अंग्रेजी विभागाध्यक्ष डा० प्रभात कुमार ने बताया कि लगभग चार दशक पहले जब वह इस काँलेज में अंग्रेजी के प्रोफेसर नियुक्त होकर आये, उस समय से वह दोनों अच्छे मित्र थे। वहीँ डा० कुमार ने कहा कि प्रो० गनी छात्रों से हमेशा बेहतर व्यवहार करते थे। इस वजह से छात्रों और शिक्षकों के बीच काफी लोकप्रिय थे। उनहोंने कहा कि वह एक विद्वान ही नहीं, वह एक बेहतर मानववादी इंशान भी थे। प्रो० गनी की मृत्यु से जिला ने एक बेहतर इंशान खो दिया है। डा० कुमार के साथ ही भाकपा माले के नेता सुरेंद्र प्रसाद सिंह, माले जिला सचिव प्रो० उमेश कुमार, आइसा जिला अध्यक्ष सुनील कुमार आदि ने उनके निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है।

Comments are closed.