8 फरवरी 2020 को होगा भगवान महावीर की मूर्ति का प्राण प्रतिष्ठा

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:- रविवार को शहर के अशोक नगर भवन के सामने एक निजी आवास पर जैन गुरु आचार्य नयनवर्धन सूरी महाराज अपने दो शिष्यों मुनि नंदिवर्धन विजयजी औऱ मुनि भुवनवर्धन विजयजी के साथ पधारे, जहां उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि आगामी 8 फरवरी 2020 को जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर की जन्मस्थली पर भगवान महावीर की मूर्ति की प्रतिष्ठा की जाएगी,वहीं, उन्होंने कहा कि चुकिं जमुई के पावन धरती पर भगवान महावीर से जुड़े तीन कल्याणक हैं, जिसमें चवन कल्याणक, दीक्षा कल्याणक औऱ जन्म कल्यानक है। लिहाजा भगवान महावीर की जन्मस्थली पर तीन मंदिर का निर्माण होना है, औऱ इसके लिए तीनों कल्याणक का प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। जैन गुरु नयनवर्धन सूरी जी महाराज ने कहा कि 31 जनवरी 2020 को चवन कल्याणक और दीक्षा कल्याणक का प्रतिष्ठा कार्यक्रम होगा, जबकि 8 फरवरी 2020 को जन्म कल्याणक जहां भगवान महावीर की प्रतिमा को प्रतिष्ठित किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि जो भी मनुष्य़ या वस्तु भगवान महावीर से संबंधित है, वो उच्च कोटि के हैं। जैन आचार्य नयनवर्धन सूरी जी ने कहा कि जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर की ये प्रतिमा उनके बड़े भाई नंदीवर्धन ने बनवाया था। लिहाजा उन्होंने कहा कि ये भगवान का आशीर्वाद है जो करीब 25-26 सौ साल बाद लोगों को भगवान की मूर्ति की प्रतिष्ठा करने का अवसर प्राप्त होगा। बता दें कि 14 दिसंबर 2018 को भगवान महावीर की मूर्ति का मंदिर में प्रवेश हुआ था, जिसमें सूबे के सीएम नीतीश कुमार खुद यहां आकर भगवान महावीर की प्रतिमा को स्थापित किया।

भगवान महावीर की जन्मस्थली पर एक भी जैन समुदाय के लोग नहीं-नयनवर्धन सूरी
जैन आचार्य नयनवर्धन सूरी जी महाराज ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि जिस पावन भूमि पर जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर का जन्म हुआ वहां एक भी जैन समुदाय के लोग नहीं रहते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि भगवान महावीर के पावन भूमि जहां लोगों के बीच सत्य और अहिंसा का पुजारी होना चाहिए उस धरती पर हिंसा चरम पर है।

पटना साहिब की तर्ज पर जमुई में रुके ट्रेन-नयनवर्धन सूरी
पत्रकारों से वार्ता करते हुए जैन धर्म के आचार्य नयनवर्धन सूरी महाराज ने कहा कि पटना साहिब के तर्ज पर जमुई रेलवे स्टेशन पर गुजरात और कोलकाता से आने वाली सभी रेल गाड़ियों का स्टॉपेज होना चाहिए। वहीं उन्होंने जिला प्रशासन और बिहार सरकार से मांग करते हुए कहा कि प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के दौरान जिले के सभी स्कूल कॉलेज बंद रहे ताकि कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा लोग इस कार्यक्रम का लाभ उठा सकें। साथ ही पूरे शहर में बैनर पोस्टर के साथ-साथ होडिंग लगाने की भी मांग की गई। वहीं, जैन आचार्य ने जिला प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि प्रतिष्ठा कार्यक्रम के दौरान स्वास्थ्य शिविर के साथ-साथ एंबुलेंस की व्यवस्था की जाए, साथ ही उन्होंने कहा कि प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के दौरान जिले में मांसाहार सहित बुचरखाना बंद होना चाहिए, इसके लिए जिला प्रशासन को कोई कारगर उपाय करने की आवश्यक्ता है। बता दें कि जैन धर्मावलंबियों के लिए सबसे पावन धरती जमुई में पहली बार आचार्य नयनवर्धन सूरी जी महाराज आने वाले चतुर्मास में क्षत्रीयकुंड स्थित भगवान महावीर की जन्मस्थली में वास करेंगे और वहीं, भगवान महावीर की ध्यान करेंगे। पत्रकारों से चर्चा करने के दौरान जैन आचार्य नयनवर्धन सूरी, शिष्य मुनि नंदिवर्धन विजयजी और मुनि भुवनवर्धन विजयजी के साथ-साथ निर्मल सिंह, विकास सिंह, अर्जुन मंडल , चंदन सिंह, भाष्कर सिंह , जीवन सिंह के साथ कई लोग मौजूद रहे।

Comments are closed.