सदन के बाहर और अंदर विपक्षी नेताओं का हंगामा


राम नरेश ठाकुर, ब्यूरो
पटना। मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से बच्चों की मौत को लेकर जमकर नारेबाजी किया गया और इस दौरान विपक्ष के विधायक स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को बर्खास्त करने की भी मांग कर रहे थे। सदन शुरू होने के पहले विपक्षी सदस्यों ने विधानमंडल परिसर में सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग विपक्ष ने की। विधान सभा में माले विधायक सत्यदेव राम ने चमकी बुखार का मामला उठाना चाहा पर अध्यक्ष ने नियमों का हवाला देते हुए उन्हें चुप रहने को कहा। वैसे दोनों सदनों में चमकी बुखार से बच्चों की मौत को दुखद बताते हुए एक मिनट का मौन रखकर मृतकों को श्रद्धांजलि दी गई।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बीमारी का कारण जानने के लिए एक टीम की संरचना की है। बीमारी का शिकार लोग गरीब परिवार से हैं। मैं बीमार बच्चों के माता-पिता से बात की। बेड की कमी थी। एक बेड पर दो बच्चे थे। मैंने बेड बढ़ाने को कहा था, जिसके बाद जेल के वार्ड को हटाकर आईसीयू बनाया गया। मैं हॉस्पिटल में देखा कि बच्चे गरीब परिवार के थे। बच्चियों की संख्या अधिक थी। इसका सोसियो इकोनॉमिक सर्वे हो रहा है। एस्बेस्टस की बात भी सामने भी आई है। यह बहुत गलत चीज है। मैं एस्बेस्टस के खिलाफ रहा हूं।

Comments are closed.