नगर निगम की मिलीभगत से पार्क बने पार्किंग


रिपोर्ट, मोहित भटनागर, गाजियाबाद(यू पी)
ग़ाज़ियाबाद। लाइन पार के विजय नगर क्षेत्र की कॉलोनियों में स्वच्छ भारत अभियान के तहत पार्को को विकसित किया गया पर उन पार्को को पार्किंग बनाकर लोगो ने कब्जा कर लिया जिसकी वजह से कॉलोनी में रहने वाले सैकड़ो बच्चो को खेलने के लिये नही मिल रहा है जिस वजह से बच्चो के चहेरे पर मायूसी छाई रहती हैं। वही स्थानीय लोगो का आरोप है कि नगर निगम के पार्क के सुपरवाइजर लोगो से गाड़ी खड़ी करने के नाम पर अवैध पार्किंग सुल्क लेते है जिस वजह से पार्क पार्किंग बन रहे है।

आपको बता दें कि विजय नगर के सेक्टर 11 सी ब्लॉक ,ए ब्लॉक ,बी ब्लॉक ओर अन्य कॉलोनियों में लगभग दो दर्जन से ज्यादा पार्क है ओर ये सभी पार्क निगम के द्वारा सौंदर्यीकरण भी किया गया लेकिन कुछ भृष्ट कर्मचारियों की वजह से पार्को को पार्किंग बना दिया गया है । इन सभी पार्क में आपको बस कार ,ऑटो रिक्शा, खड़े दिखाई देंगे नाकि खेलते हुए बच्चे क्योंकि नगर निगम के कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत से उन पार्को को पार्किंग स्थल बना दिया है और उनके द्वारा उसमे बच्चो का खेलना वर्जित लिख दिया है।

दरसल मामला यह है कि विजय नगर सेक्टर 11,12 की कॉलोनियो मे निगम के द्वारा पार्क को विकसित किया गया है लेकिन पार्को का विकास होने पर भी बच्चो को खेलने नही दिया जाता है।वही कॉलोनीवासीओ का आरोप है कि इन पार्कों में गाड़ी ,ऑटो रिक्शा आदि वाहन खड़े करने की एवज में नगर निगम के सुपरवाइजर हर महीने उनसे रुपए लेता है जिस कॉलोनी के लोग पार्क में वाहन खड़ी करने के नाम पर पैसे नही देते उसमे कर्मचारी ताला लगाकर चले जाते हैं और अगर कोई ताला तोड़ देता है उनके खिलाफ मामला दर्ज करने की धमकी देते हैं।

गौरतलब करने वाली बात यह है कि नगर निगम के कर्मचारियों बच्चो के खेलने वाले पार्क की जगह पार्को को पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली करते रहेंगे। जब हमने इस सम्बन्ध मे विजय नगर ज़ोन प्रभारी से उनसे जानकारी के लिये फोन किया तो उन्होंने फोन नही उठाया और जब हम उनके आफिस गए तो वो वहाँ भी नहीं मिली। अधिकारियों का पार्को की बनी पार्किंग के विषय पर ढीला रवैया अपने आप मे एक सवाल खड़ा करता है।

Comments are closed.