मोदी-मोदी के नारों के बीच पीएम मोदी ने ली नई लोकसभा सदस्य के रूप में शपथ


ऋषी तिवारी
नई दिल्ली। 17वीं लोकसभा का पहला सत्र आज से शुरू हो गया है और सत्र की शुरुआत सांसदों को शपथ दिलाकर की जा रही है। इस बार बहुमत के साथ लोकसभा पहुंची बीजेपी अब तक अटके हुए विधेयकों को पास कराना बड़ी चुनौती बन गई है और यह बजट सत्र 26 जून तक चलेगा। बजट 5 जुलाई को पेश किया जाएगा।

सबसे पहले सदन के नेता के तौर पर प्रधानमंत्री मोदी, पीठासीन अध्यक्ष पैनल के सदस्यों और बाद में केंद्रीय मंत्रियों ने शपथ लिया और इसके बाद राज्यों के अकारादि क्रम से सदस्यों ने शपथ लिया । सबसे पहले आंध्र प्रदेश, फिर असम और उसके बाद बिहार के सदस्यों ने शपथ लिया इसके बाद सदस्यों ने मेजें थपथपाकर उनका स्वागत किया, वहीं भाजपा सदस्यों ने ‘मोदी-मोदी’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाए। प्रधानमंत्री ने हिंदी में शपथ ली।

मोदी कैबिनेट के कई वरिष्ठ मंत्री पहली पंक्ति में नजर आए। परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, सदानंद गौड़ा, और पटना साहिब लोकसभा सीट से शत्रुघ्न सिन्हा को हराकर सदन पहुंचे रविशंकर प्रसाद, नरेंद्र सिंह तोमर और हरसिमरत कौर पहली पंक्ति में दिखे। रामविलास पासवान भी सदन में मंत्री होने के कारण मौजूद थे, लेकिन इस बार वह लोकसभा के सदस्य नहीं है। माना जा रहा है कि खाली हुई राज्यसभा की सीटों में से एक सीट से उन्हें राज्य सभा भेजा जाएगा। चुनाव से पहले ही एलजेपी और बीजेपी के बीच यह समझौता हो गया था।

आपको बता दें कि पीएम मोदी अपने पहले कार्यकाल में संस्कृत भाषा को कामकाज में इस्तेमाल करने पर जोर देने की कई बार बात कर चुके हैं। लेकिन कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर उनकी इस बात से सहमत नहीं हैं। वे इसे व्यवहारिक भाषा नहीं मानते है । इस बार संसद भवन में सांसदों तक पहुंचने के लिए गोल्फ कार्ट का इस्तेमाल किया गया है। कई सांसद इस गाड़ी में बैठकर सेंट्रल हॉल के गेट तक पहुंचे। दरअसल इसे सुरक्षा के लिए और सुविधा के लिए उठाया गया कदम कहा जा सकता है।

सनी देओल भी इस बार पंजाब की गुरदासपुर सीट से चुनाव जीतकर संसद के बजट सत्र में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी , डॉक्टर हर्षवर्धन, रमेश पोखरियाल, अश्वनी कुमार चौबे, किरण रिजिजू, जितेंद्र सिंह, गिरिराज सिंह, प्रह्लाद जोशी ने भी पद और गोपनीयता की शपथ ली है । वहीं, राव इंद्रजीत सिंह, प्रह्लाद सिंह पटेल, अर्जुन राम मेघनाल, बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो और देबाश्री चौधरी, कृष्णपाल गुर्जर, साध्वी निरंजन ज्योति, बाबुल सुप्रियो, शिवसेना के अरविंद सावंत ने सांसद पद की शपथ ग्रहण किया है ।

कांग्रेस और बीजेपी दोनों के ही कई दिग्गज चेहरे इस बार सदन में नजर नहीं आएंगे। बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, सुषमा स्वराज, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती जैसे दिग्गजों ने इस बार चुनाव नहीं लड़ा। कांग्रेस के कई बड़े चेहरे मल्लिकार्जुन खड़गे, ज्योतिरादित्य सिंधिया, दीपेंदर हुड्डा चुनाव हारने के कारण सदन में नहीं नजर आएंगे।

Comments are closed.