ईमेल्स को आधार बना रॉबर्ट वाड्रा से आज फिर पूछताछ कर रहा ED, ऐसे सवालों का करना पड़ सकता है सामना

google image

नई दिल्ली: रॉबर्ट वाड्रा गुरुवार को लगातार दूसरे दिन धन शोधन मामले में पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश हुए। रॉबर्ट वाड्रा, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई हैं।

रॉबर्ट वाड्रा प्रवर्तन निदेशालय के जामनगर कार्यालय में सुबह करीब 11.20 मिनट पूछताछ के लिए पेश हुए।

इससे पहले रॉबर्ट वाड्रा से बुधवार को पहली बार छह घंटों से ज्यादा समय तक पूछताछ की गई थी।

पहले दिन के उलट व्यापारी रॉबर्ट वाड्रा दूसरे दिन की पूछताछ के लिए अपनी पत्नी प्रियंका गांधी के साथ नहीं पहुंचे। प्रियंका गांधी बुधवार को रॉबर्ट वाड्रा को ईडी कार्यालय छोड़ने आईं थी।

रॉबर्ट वाड्रा को दूसरे चरण की पूछताछ के लिए सुबह 10.30 बजे बुलाया गया था। वाड्रा से लंदन में कुछ अचल संपत्तियों के अधिकार, खरीद व लेन-देन के बारे में पूछताछ की जा रही है।

ईडी का मामला विदेश में 19 लाख पाउंड्स की अघोषित संपत्ति के स्वामित्व से जुड़ा हुआ है, जो कथित तौर पर वाड्रा की हैं।

इससे पहले ईडी के वकील ने शहर की अदालत में कहा था कि लंदन की संपत्ति एक पेट्रोलियम सौदे में प्राप्त की गई रिश्वत का हिस्सा है। इस धन को भंडारी द्वारा नियंत्रित यूएई स्थित कंपनी एफजेडसी सनटेक इंटनेशनल ने स्थानांतरित किया था।

पूछे जा सकते है ये सवाल

लंदन की 12 ब्रायस्टन स्कवायर प्रॉपर्टी को लेकर सवाल पूछे जा सकते हैं। ईडी पूछ सकता है कि अगर प्रॉपर्टी वाड्रा की कंपनी या उनकी नहीं है तो उन्हें मेल क्यों किए गए? इस प्रॉपर्टी के रिनोवेशन और फ्लोर प्लान के अप्रूवल संबंधी मेल रॉबर्ट वाड्रा को भेजे गए। साल 2010 में जब ये मेल किये गए, तब ये प्रॉपर्टी हथियार डीलर संजय भंडारी के पास थी। प्रॉपर्टी बनाने के लिए फंड भी मांगा गया, जिसके जवाब में रॉबर्ट वाड्रा ने मेल भेजने वाले सुमित चड्डा को भी जवाब दिया है की फंड का इतंजाम कर रहे हैं। हर ईमेल की कापी संजय भंडारी को भी दी जा रही थी। सुमित चड्डा को संजय भंडारी का रिश्तेदार बताया जाता है। दुबई में रहने वाले भारतीय सी सी थंपी से सबंधों को लेकर भी पूछताछ हो सकती है, जिसने यह प्रॉपर्टी संजय भंडारी से ली थी।

Comments are closed.